Indian Sex Stories सेक्स चैट वाली भाभी

Indian Sex Stories सेक्स चैट वाली भाभी

Indian Sex Stories सेक्स चैट वाली भाभी

हेलो दोस्तों, मैं राज. आज आपको अपना एक एक्सपीरियंस सुनाता हु. ऑनलाइन चैट फ्रेंड के साथ सेक्स अनुभव जिसमे कई लडकियों या भाभियों की कहानी है. ये चैट फ्रेंड जो होती है, मैंने देखा है इनसे रिश्ता कुछ ही दिनों का होता है. फिर कुछ दिनों बाद ये चैट फ्रेंड रिप्लाई करना बंद कर देती है. कभी-कभी गुस्सा भी आता है और फिर सोचता हु कि कोई बात नहीं, जितने दिन भी चैट की; जितना भी बात की. उसके लिए थैंक्स ही बोल देता हु. क्युकि आजकल की बिजी लाइफ में कोई किसी से कहाँ लम्बे समय तक बात करता है. एनीवे, अब मैं अपनी स्टोरी पर आता हु. हुआ यूकि, मेरे पास एक मेल आई; किसी भाभी जी की. उसने “हेलो” लिखा था. मैंने भी रिप्लाई कर दिया और लिख दिया “हेलो”. क्या हम एक दुसरे को जानते है? और कुछ दूसरी बातें. उनका फिर से रिप्लाई आया, कि मैं सेक्स चैट करना चाहती हु. क्या आप मेरे साथ चैट करेंगे? हम लोगो की बातें स्टार्ट हो गयी और हम लोगो ने काफी सेक्स चैट की. वो सेक्स चैट मैं आपको में डिटेल में बताता हु. वो बोली – मेरे पति से मेरा सेक्स पूरा नहीं होता है और मैं चाहती हु, कि आप ऑनलाइन मेरे साथ सेक्स करे.

फिर, मैंने उसको उसकी पिक सेंड करने को बोला. उसने बहुत मस्त पिक भेजी. अब चैट की बातें- मैंने पहले उनको किस किया फॉरहेड पर, फिर लिप्स पर और फिर समुच किया. फिर पीठ पर और बूब्स को दोनों हाथो से दबाने लगा और पीछे से किस करने लगा. फिर, मैंने उनका टॉप उतार दिया और ब्रा के अन्दर हाथ हाथ डाल दिया और उसके बूब्स को अच्छे से मसाज करने लगा. उसने बोला – ब्रा भी उतार दो ना. फिर मैंने उसकी ब्रा उतार दी और पीछे से पुरे पीठ और आर्म में चुमते हुए चुचियो को दबा रहा हु. अब मैं गले में कान के पास चूम रहा हु और चाट रहा हु. उसके आँखे बंद होती जा रही है और मेरा लंड खड़ा हो गया है. मैं उसकी गांड को टच कर रहा हु, बहुत ही मजेदार फीलिंग थी. वो अब मैंने उसे पलट दिया और चुचियो को मुह में ले लिया और पहले तो बारी-बारी फिर दोनों चुचियो को एकसाथ जोड़कर दोनों निप्पल को एकसाथ मुह में लेकर जमकर चूसा. वो अहहहः अहहहः ऊऊऊ की आवाज़ निकालने लगी और बोलने लगी – और चुसो ना इन चुचियो को. बहुत परेशान करती है अहहहः अहहहः जोर से चुसो ना.

और मैं चूसता रहा, हलके-हलके दांतों से भी काटता रहा. फिर मैंने लोअर भी उतार दी उसकी और पेंटी मैं हाथ डालकर चूत को भी सहलाने लगा. चूत बिलकुल गीली हो चुकी थी. मैं चूत भी सहला रहा था और बूब्स भी चूस रहा था हहहहः अहहहहः म्मम्मम की आवाज़े से मजा और भी डबल आ रहा था. अब बारी थी चूत की सेवा की. मैंने अपने कपडे और उसकी पेंटी भी उतार दी और चूत को जीभ से चाटने लगा. नीचे से ऊपर चूत का दाना तो खिलकर बड़ा हो चूका था और उसे जीभ से सहलाने लगा और चूसने लगा. वो चीखने लगी अहहः अहहहः हहहः खा जाओ मेरी चूत को. अब डाल भी दो. मैं मर जाउंगी. अहहहः हहहः ऊऊऊऊ उम्म्म्मम्म्म्म करने लगी. और उठकर मेरे लंड को मुह में ले लिया और मस्त चूसने लगी. वो कहने लगी, आज मैं ये लंड को खा जाउंगी. ये लंड सिर्फ मेरा है हहहः उम्म्मम्म्म्म म्मम्मम और जोर जोर से चूसने लगी. मेरा पूरा लंड उसके मुह में नहीं जा पा रहा था, लेकिन वो कोशिश करने में लगी हुई थी, कि वो मेरा पूरा लंड अपने मुह में ले ले. कभी वो अपने मुह को मेरे लंड की जड़ तक ले जाने की कोशिश करती और कभी मेरे लंड को अपने हाथो से सहलाते हुए, मुठ मारती.

अब उसने मेरे लंड को नीचे से ऊपर तक अपनी जीभ से चाटना शुरू कर दिया और गोलियों को भी मुह में लेकर चूसने और चाटने लगी. पागल हो रही थी, वो मेरे लंड को हाथ में लेकर. मेरा पूरा लंड उसके थूक से भर गया था. जैसे कोई छोटा बच्चा लोलीपोप चूसता है. वो उसे जल्दी से जल्दी खाना चाहता है, कि कोई उससे ले ना ले. बिलकुल वैसे ही वो मेरे लंड के साथ कर रही थी. फिर, मैंने उसे बोला – अब आप लेट जाओ. फिर, मैंने उसकी चूत की चुसाई शुरू कर दी. वो थोड़ी ही देर में, मेरे मुह में झड़ गयी. मुझे लगता था, कि वो दूसरी बार झड़ी थी. फिर मैंने उसकी चूत में लंड को रखा और लंड से चूत को रगड़ने लगा. वो डालो ना.. डालो ना प्लीज मेरे राजा ..बोले जा रही थी और हहहहहः अहह्ह्ह्ह म्मम्मम की आवाज़े निकाल रही थी और अपनी गांड को ऊपर उठा रही थी बार – बार. अब मैंने ज्यादा देर ना करते हुए लंड को उसकी चूत के हवाले कर दिया. मेरा लंड एक ही बार में आधा उसकी चूत में घुस गया और मैंने उसकी चुदाई शुरू कर दी, और जोर-जोर से बोल रही थी – अह्हहः ह्ह्ह्हह्ह फक मी, फक मी हार्डर फक फक करने लगी.

फिर मैंने एक जोरदार स्ट्रोक मारा और मेरा पूरा लंड अन्दर चले गया. वो चीखी अहहहहः ahhhhhhhhhhhh लगता है, उसके पति का लंड मेरे से छोटा होगा. इस बार मेरा पूरा लंड अन्दर चले गया था और अब रेल गाड़ी चल पड़ी थी. छुक छुक छुक छुक छुक अहहहहः हाहाहा,,,,, म्मम्मम की सिटी बज रही थी. मैं उनकी चुदाई किये जा रहा था और वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी गांड उठा – उठाकर. मैं भी कभी उनकी चुचिया चूसता और कभी लिप्स को चूमता. फिर, मैं उनको कसकर पकड़कर धक्के लगा रहा था. मैंने उनको डौगी स्टाइल में भी चोदा. गांड को देखकर चोदने में बड़ा मज़ा आ रहा था. मैं उनकी गांड को मसल रहा था और चुदाई किये जा रहा था. लंड को पूरा बाहर निकाल लेता और फिर जोर से अन्दर पेल देता था. उसकी चूत और भी भर जाती थी और एक आवाज़ सी आती थी. फिर २० मिनट तक चली हमारी चुदाई और हम दोनों झड़ गये. ऐसा कई दिनों तक चला. लेकिन आब उसका कोई मेसेज नहीं आता.

और अब वो भी कोई रिप्लाई नहीं करती. होगी कोई उसकी अपनी परेशानी. तो फिर कोई और मिल गया होगा, मुझसे भी बढ़िया चुदाई करने वाला.
Rate & Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *