पड़ोसन ने मुझे कुँवारा बाप बनाया

हाय फ्रेंड्स Antarvasna मेरा नाम अनिल Kamukta है और मैं 24 साल का हूँ मैं दिल्ली के पास फिरोजाबाद का रहने वाला हूँ और मैं भी आप सभी की तरह ही कामलीला वेबसाइट पर पिछले कई महीनों से कहानियाँ पढ़ता आ रहा हूँ और मुझे read more

चुदाई से बदनाम हुए रिश्ते

हाय दोस्तों, Antarvasna मेरा नाम सुनील Kamukta है और मैं धनबाद का रहने वाला हूँ दोस्तों मैं आज आप सभी के सामने अपनी एक सच्ची कहानी को सुनाने जा रहा हूँ लेकिन सबसे पहले में कामलीला डॉट कॉम को बहुत-बहुत धन्यवाद read more

चुदाई का सफ़र भाग :- 6

हाय फ्रेंड्स Kamukta कामलीला के सभी पाठकों को यह बताते हुए हमको बहुत ख़ुशी हो रही है कि हमारे लोकप्रिय लेखक चोदूराजा की रचनाओं को आप सभी का बहुत-बहुत प्यार मिल रहा है और आपसे अनुरोध है कि आपका यह प्यार read more

दोस्ती और राखी दोनो का फ़र्ज़ निभाया 2

हाय दोस्तों Antarvasna मैं अमन एकबार फिर Kamukta से आपके सामने हाजिर हूँ दोस्तों मेरी पहली कहानी “दोस्ती और राखी दोनों का फ़र्ज़ निभाया भाग 1” को आप सभी पाठकों ने काफ़ी पसंद किया था मैं कुछ जरूरी काम में read more

दर्जी से चुद गई अपनी मर्जी से भाग -2

हाय दोस्तों Antarvasna मैं सोनल एकबार Kamukta फिर से आप सभी के सामने हाज़िर हूँ अपनी बहुत प्यारी सहेली सोम्या का एक प्यारा सा सेक्स अनुभव लेकर आशा करती हूँ कि आप सभी को इसका पहला भाग बहुत पसंद आया होगा तो अब read more

कॉल बॉय से प्यार हो गया 2

तो मेरे प्यारे Kamukta आशिकों आप Antarvasna सब कैसे हो मैं परवीन एकबार फिर से आपके सामने हाज़िर हूँ अपनी कहानी का दूसरा भाग लेकर और आशा करती हूँ कि आपको मेरी कहानी का पहला भाग पसंद आया होगा तो अब पढ़िये उसके read more

काली दुनिया का भगबान 5

“वो तो मैं देख सा हू। मैंने तुम्हारा नाम पूछा है
।” “डियाना ।” “इस तरह आर्मी एरिया में विमान से कूदने
का तुम्हारा क्या मकसद है?” उसने सवाल
किया । “भला एक लड़की का इतनी रात में आर्मी
read more

काली दुनिया का भगबान 4

मेरे जिस्म को एक तेज झटका लगा था । मैंने
पहले आंखें खोल दीं और एक झटके से सीधी
होकर बैठ गई । जोगा रुक चुका था । जोगे का पिछला दरवाजा खुला । अगले क्षण
उसमें से एक एक करके सैनिक नीचे कूदने लगे
read more

काली दुनिया का भगबान 3

कुछं देर बाद वे सैनिक मुझे जिस जगह लेकर पहुचे, वहां पर्याप्त उजाला था । वहां एक जोंगा, खड़ा था ।

वे संख्या में चार थे ।

चारों के कन्धों पर रायफलें लटकी हुई थी । चारों के चेहरे इस बात की चुगली खा रहे read more

काली दुनिया का भगबान 2

उस बियाबान में क्या कर रहे थे ?

पलक झपकते ही ऐसे कईं सवाल मेरे जेहन में कौंध गये थे ।

वहां सन्नाटा था । मौत जैसा सन्नाटा । सन्नाटे के साथ चारों तरफ पूर्ण अंधकार था । काजल-सा स्याह अंधकार, जिसे मानो read more