मौसी की चुदाई और गोद भराई

हैल्लो दोस्तों, Antarvasna मेरा नाम विकास Kamukta है और मैं कामलीला डॉट कॉम का नियमित पाठक हूँ मेरी इस वेबसाइट पर यह पहली कहानी है और आज जो कहानी मैं आप लोगों को सुनाने जा रहा हूँ उसे सुनकर कई लंड तो खड़े हो जायंगे और कई चूतें अपना पानी छोड़ देगी। अब मैं आपका ज्यादा समय ना लेते हुए अपनी आज की कहानी पर आता हूँ।

यह घटना आज से 5 साल पहले की है जब मैं 22 साल का था मेरे माँ के पापा की 4 बेटियाँ थी पर एक भी बेटा नहीं था मेरी माँ उनमें से सबसे बड़ी थी। मेरी माँ की शादी के 1 साल बाद ही मैं पैदा हुआ था और सब बहुत खुश थे कि बेटा हुआ है। मेरी मम्मी की शादी के 10 साल बाद मेरी सबसे छोटी मौसी की शादी हुई तब वह 24 साल की थी वह दिखने में एकदम सेक्सी लगती थी पर उनके मंगल था इसलिए उनकी शादी जल्दी नहीं हो पाई थी उनकी शादी के समय मैं 10 साल का था उनकी शादी के बाद सालभर बाद उन्हें 1 लड़की हुई हमारे और उनके घर पर सब लोग बहुत खुश थे लेकिन फिर 2 साल बाद भी उन्हें फिर से 1 लड़की हुई तो मेरे मौसा जी भी थोड़े उदास हो गये फिर 2 साल बाद भी उनको 1 और लड़की ही हुई तो सब परेशान हो गये और मेरी मौसी भी परेशान हो गई थी सब लोग तरह-तरह की बातें करने लगे थे कि यह तो अपनी माँ पर ही गई है और इसको भी शायद कोई बेटा नहीं होगा इन तानों से मौसा जी भी परेशान हो गए थे और मौसीजी भी।

फिर एक दिन मौसी हमारे घर मेरी मम्मी से मिलने आई हमारे घर में हम 2 भाई थे यानी मेरी मम्मी को 2 बेटे ही थे मौसी अपनी परेशानी मम्मी को बताने लगी उस समय मेरी उम्र 21 साल की थी और हमारे घर में सिर्फ़ लड़के ही थे तो मेरी मौसी चाहती थी कि हमारे घर में से कोई उनके साथ संभोग करे तो उन्होंने मम्मी को मदद करने को कहा तो पहले तो मम्मी ने मना कर दिया उनकी यह सब बातें मैं छुपकर सुन रहा था मौसी की हालत देखकर मम्मी मान गई थी और मौसी ने कहा वह मेरे साथ सेक्स करना चाहती है क्यूंकि मैं जवान हूँ और उनके परिवार का हिस्सा भी हूँ तो कोई शक भी नहीं करेगा और बदनामी भी नहीं होगी और फिर मौसी रात का खाना खाने के बाद अपने घर पर चली गई।

फिर दूसरे दिन से माँ की नज़र मेरे प्रति बदल सी गई थी पता नहीं वह अपने मन में क्या सोच रही थी कि अपने बेटे को यह बात कैसे बताऊँ पर मुझे तो सब पता था पर मैं मम्मी के पूछने का इंतजार करने लगा ऐसे में 2 दिन गुजर गए और मम्मी ने उस बात को मुझसे नहीं कहा फिर एक दिन घर के सब लोग बाहर घूमने चले गए पर मेरी परीक्षा होने की वजह से मैं नहीं जा पाया तो मम्मी भी घर पर रुक गई थी मेरे साथ। सब के चले जाने के बाद मम्मी मेरे कमरे में आई और मेरी पढ़ाई के बारे में पूछने लगी तो मैंने कहा कि मेरी पढ़ाई बहुत अच्छी चल रही है इस बार मैं 12 वीं में 75% तक लाऊँगा मम्मी तो बहुत खुश हो गई और कहने लगी कि अच्छा है ऐसे ही मन लगाकर पढ़ाई कर तो मैंने कहा हाँ मम्मी।

फिर मम्मी कुछ देर तक खामोश हो गई तो मैं अब समझ चुका था कि मम्मी अब वह बात करना चाहती है पर डर रही है और शायद मुझसे कहने में उनको शरम आ रही है फिर मम्मी ने मुझसे कहा कि तेरी कोई गर्लफ्रेंड है क्या? मैं मम्मी के मुहँ से यह शब्द सुनकर एकदम से चौंक गया क्यूंकि मम्मी ने आज तक कभी मुझसे ऐसे नहीं पूछा था तो मैनें उनसे कहा कि नहीं तो फिर उन्होंने कहा क्यूँ नहीं है? तो मैंने कहा कि मैं ऐसा काम नहीं करता तो उन्होंने कहा ठीक है फिर मम्मी ने पूछा तुझे सेक्स के बारे में कुछ पता है? तो मैं उनकी यह बात सुनकर एकदम से सन्न रह गया और फिर मैं खामोश हो गया और मम्मी के सामने भोला बन रहा था मेरे मन में तो खुशी के मारे लड्डू फूट रहे थे और फिर मैंने मम्मी से कहा कि मम्मी आप सीधे-सीधे बताओ ना कि आपको मुझसे काम क्या है कल मेरा टेस्ट है और मुझे पढ़ाई करनी है तो मम्मी ने एक लम्बी साँस ली और मुझसे कहा तुझे तो पता है की तेरी छोटी मौसी तुझसे कितना प्यार करती है और इस समय वह बहुत परेशानी में है और हमें उनकी मदद करनी चाहिए तो मैंने भी उनसे कहा हाँ मम्मी क्यूँ नहीं अगर मैं उनकी कुछ मदद कर सकता हूँ तो आप मुझसे कहो मैं करूँगा तो मम्मी ने कहा कि हाँ मैं कहूँगी। पर तू मेरी कसम खा और बोल कि यह बात बस हम दोनों के सिवा किसी और को मालूम नहीं होगी तो फिर मैंने भी हाँ कह दिया।

तो अब मम्मी ने मुझसे कहा कि उनको 3 लड़कियां हो गई है और उससे उनके परिवार वाले परेशान हो गये है और वह मौसाजी की दूसरी शादी करना चाहते है परिवार के वारिस के लिए और तुझे तो पता ही है ना कि वह लोग कितने गुस्से वाले है और हमारे परिवार में जो भी शादी करता है उसको लड़के ही होते है तो तुझे भी अपनी मौसी के साथ वह सब करना होगा और उसको तुझे एक बेटे की माँ बनाना होगा उनके मुहँ से यह बात सुनकर मैं हक्का-बक्का सा हो गया तो मम्मी ने कहा कि घबरा मत तेरी मौसी भी यही चाहती है पर मैंने मम्मी से कहा कि मुझे सेक्स करना नहीं आता तो उन्होंने कहा कि वह सब तो तुझे तेरी मौसी सिखा देगी और फिर मम्मी वहाँ से चली गई और फिर कुछ दिनों के बाद मेरी परीक्षा भी खत्म हो गई और मेरी 2 महीने के लिए छुट्टियाँ लग गई।

और मैं छुट्टियों में अपने नानाजी के घर चला गया और मम्मी ने मुझसे कहा कि वहां पर तेरी मौसी भी आ जाएगी मेरे नानाजी के घर जाने पर वहाँ सब बहुत खुश हो गये थे क्यूंकि घर में मैं और मेरा छोटा भाई ही लड़के थे नानाजी और मामाजी और मेरी मामीजी भी बहुत खुश थी फिर 2-4 दिन के बाद मेरी मौसी भी वहां पर छुट्टियों के लिए आ गई थी मौसी ने मुझसे कहा कि विकास तुम रात में मेरे साथ मेरे कमरे में ही सो जाना क्यूंकि नानाजी के घर में 4 कमरे थे 1 में नाना-नानी और मम्मी और सभी बच्चे सोने वाले थे और एक कमरा जो एक बड़े हॉल के जैसा था वह मेहमानों के लिए था और बचे हुए 2 कमरों में से एक में मेरी 2 मौसीयां और एक में मैं और मेरी छोटी मौसी सोने वाले थे अब मैं रात को सबके सोने का इंतज़ार करने लगा और फिर जब सब रात का खाना खाने के बाद कुछ देर टीवी देखने और बातें करने के बाद सोने चले गये तो मैं वहीं हॉल में बैठकर टीवी देख रहा था फिर करीब रात के 12 बजे मुझे मौसी ने आवाज़ दी और मुझे उनके कमरे में आकर सोने के लिए बुला लिया और फिर मैं चला गया।

पहले तो मौसी ने मेरी परीक्षा कैसी हुई उसके बारे में पूछा और उसके बाद मुझे आगे क्या करना चाहता है यह पूछा और फिर उन्होंने कहा कि तुम्हें तो मेरी परेशानी पता ही है ना क्या तुम मेरी कुछ मदद करना चाहोगे तो मैंने कहा कि मौसी आप परेशान मत हो मेरे बस में जितना होगा मैं उतनी आपकी मदद करूँगा मेरी मौसी का फिगर 34-32-38 है और फिर वह मेरे पास आई और मुझे मेरे होठों पर किस करने लगी और मुझसे कहने लगी कि आज से तुम यह समझना कि मैं तुम्हारी मौसी नहीं तुम्हारी बीवी ही हूँ और अब तुम अपनी बीवी के साथ सुहागरात में क्या करना चाहते हो तुम्हे मेरी तरफ से पूरी छूट है जो चाहे जैसा चाहे वैसा करो तो मैंने मौसी से कहा कि मुझे नहीं पता यह सब कैसे करते है तो उन्होंने कहा कि ठीक है चिन्ता मत करो मैं तुम्हे सब सिखाऊँगी और फिर उन्होंने मुझे पहले अपनी शर्ट उतारने और अपनी अंडरवियर भी उतारकर नंगा होने को कहा उन्होंने जैसा कहा मैं वैसा ही करता गया।

और फिर वह बेड से उठी और मेरे पास आ गई और मेरे होठों पर फिर से किस करने लगी और उन्होंने उनके बब्स पर मेरा हाथ पकड़कर रख लिया और मुझे किस करते हुए बोली कि इनको दबाओ तो मैंने दबाना शुरू किया क्या नरम और मुलायम बब्स थे बिल्कुल रुई की तरह और बहुत बड़े भी थे मेरे एक हाथ में तो समा ही नहीं रहे थे और फिर मौसी झुकी और मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर ऊपर नीचे करने लगी तो मुझे भी अब जोश चढ़ने लगा और मेरा लंड भी अब टाईट होने लगा था तो मैंने कहा कि मौसी मुझे बहुत मज़ा आ रहा है और फिर वह खड़ी हो गई और मुझसे कहने लगी मैं उनकी नाईटी उतार दूँ तो मैंने वैसा ही किया उन्होंने उसके अन्दर कुछ भी नहीं पहना हुआ था नाईटी उतारने के बाद वह पूरी तरह से मेरे सामने नंगी खड़ी थी मेरी जिन्दगी में पहली बार मैंने किसी औरत को पूरा नंगा देखा था वह नज़ारा देखकर मैं तो बहुत खुश हो गया था अब मौसी ने कहा अब तुम जो चाहे वह करो मेरे साथ और वह मुझे बेड पर लेकर गई।

और लेट गई और अपने बब्स खुद ही दबाते हुए मुझसे कहने लगी कि इनको दूध के बब्स कहते है और फिर अपनी दोनों टाँगे फैलाई और अपना हाथ अपनी चूत पर रखकर कहने लगी कि इसको चूत कहते है और इसमें से ही तुम भी निकले हो अपनी मम्मी की चूत में से और फिर उन्होंने मुझसे कहा कि मैं उनकी चूत को चाटूं तो फिर मैंने ऐसा ही किया मैं अपनी जिन्दगी में पहली बार किसी की चूत को इतने मज़े लेकर चाट रहा था बहुत मज़ा आ रहा था क्या नमकीन जैसा स्वाद था उनकी चूत का और मौसी के मुहँ से आह्ह्ह… उईईईई… मआआअ… की आवाजें निकलने लगी थी और मैं डर गया और उठकर खड़ा हो गया तो मौसी ने कहा कि यह तो मज़ा है तुम डरो मत मैं जितना भी चीखूँ या चिल्लाऊँ पर तुम रुकना मत और फिर मैं करीब 10-15 मिनट तक उनकी चूत को चाटता रहा।

उसके बाद मौसी ने मुझे अपने पास बुलाया और एक किस मेरे लंड पर दी और मेरा सारा का सारा लंड अपने मुहँ में ले लिया और लॉलीपोप की तरह उसको चूसने लगी इसमें मुझे भी मज़ा आ रहा था अब करीब 10 मिनट तक उन्होंने मेरे लंड को चूसा और मैं उनके बब्स को मसलता रहा फिर मौसी ने मुझे अपनी टाँगों के बीच में खड़े होने को कहा और मैं जाकर खड़ा हो गया और फिर उन्होंने कहा कि मेरी चूत के छेद में तुम्हारा लंड जाना चाहिए तो मैंने कह दिया ठीक है और फिर उन्होंने अपनी टाँगे फैलाई और अपने एक हाथ से मेरे लंड को पकड़कर अपनी चूत के मुहँ के पास लेकर गई और मुझे धक्का लगाने को कहा तो मैंने धक्का लगाया पर मेरा पहली बार होने के कारण मेरा लंड उनकी चूत पर से फिसल गया पर दूसरी बार मेरे लंड का टोपा उनकी चूत में घुस ही गया और फिर 3-4 धक्कों में तो मेरा पूरा लंड ही उनकी चूत में समा गया था।

और फिर उन्होंने कहा कि अब तुम अपने पूरे जोश के साथ के साथ अपना लंड मेरी चूत में अंदर-बाहर करो और फिर मैं ऐसा ही करने लगा और अपने एक हाथ से उनके बब्स को भी जोर-जोर से दबाने लगा मौसी जोर-जोर से चीखने-चिल्लाने लगी और अपने मुहँ से आवाजें भी निकालने लगी आहह तेरा बहुत बड़ा है रे राज्ज्जा उफफफफफ आहह ज़ोर-ज़ोर से और ज़ोर से करो और मैं उनको चोदते-चोदते उनके होठों पर भी किस करने लगा और एक हाथ से उनके बब्स को भी दबा रहा था और उनकी चूत में फका-फक अपना लंड पेल रहा था फिर करीब 20-25 मिनट के बाद जब मैं झड़ने वाला था तो मैंने मौसी से कहा कि मेरे शरीर में करंट की तरह कुछ हो रहा है और मेरे लंड से कुछ निकलने वाला है तो मौसी ने कहा कोई बात नहीं वही तो चाहिये मुझे उसको तुम मेरी चूत के अन्दर ही छोड़ना और फिर मुझे मौसी ने तेज़-तेज धक्के मारने को कहा और मेरे होठों को ज़ोर से पकड़कर किस करने लगी और मेरे होठों को काटने भी लगी अपने दातों से और कहती भी जा रही थी कि आहह मार जोर से मार आहह और ज़ोर से मार्र्रर्र्र्रर्र्र और जोर से आज फाड़ दे मेरी इस चूत को ऐसी गालियाँ देने लगी और मौसी एकदम से अकड़कर झड़ गई और फिर मैं भी अकड़कर उनकी चूत में ही झड़ गया हम दोनों का एक साथ ही झड़ना मौसी के लिये बहुत ही खुशी का मौका था फिर झड़ने के बाद करीब 15-20 मिनट तक मैं उनके ऊपर ही लेटा रहा और मेरा लंड उनकी चूत में ही था उस जबरदस्त चुदाई के बाद मैं बहुत थक गया था क्यूंकि वह मेरे जीवन की पहली चुदाई थी इसलिए।

और फिर मैं नंगा ही उनके साथ चिपककर सो गया और अब मैं अगली रात से उनको अलग-अलग पोजीशन में चोदता रहा और वह सब पोजीशन मुझे मौसी ने ही सिखाई थी हमारी वह कामलीला 1 महीने तक चलती रही और फिर मौसी को 1 महीने बाद ही पता चला कि वह गर्भवती है तो वह बहुत खुश हुई और फिर 9 महीने बाद मौसी को एक बहुत सुन्दर लड़का हुआ है उनके घर में भी अब सब बहुत खुश थे पर सब से ज़्यादा खुश मौसी और मैं था।

धन्यवाद प्यारे पाठकों !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *