चुदाई की पहली उड़ान

हाय फ्रेंड्स, Kamukta मेरा नाम कुणाल है Antarvasna और मैं 24 साल का हूँ और मैं चंडीगढ़ का रहने वाला हूँ मेरे शरीर की लम्बाई और चौड़ाई ठीक-ठाक है मेरा रंग भी गोरा है जो किसी को भी अपनी तरफ झट से आकर्षित कर लेता है मैं एक प्राइवेट एरलाइन कम्पनी में नौकरी करता हूँ और मैं अपने खाली समय में कामलीला वेबसाइट पर सेक्सी कहानियाँ पढ़ता रहता हूँ अब मैं इसका नियमित पाठक हूँ और इसकी सभी कहानियाँ पढ़ता हूँ और मैं कई बार तो सोचता हूँ कि मैं भी अपनी एक सच्ची घटना को आप सभी के साथ शेयर करूं लेकिन अपने काम की वजह से हिम्मत नहीं कर पा रहा था और कुछ तो बदनामी का भी डर था और फिर पूरी तसल्ली करने के बाद और अपनी गर्लफ्रेंड की भी सहमती से मैं यह कहानी आप सभी के लिए लेकर आया हूँ आशा करता हूँ कि आप सभी इसको जरूर पसंद करोगे तो दोस्तों अब मैं आपका ज्यादा समय ना लेते हुए अपनी घटना को आप सभी को बताने जा रहा हूँ।

तो दोस्तों अब आज की कहानी को शुरू करते है जो कि कुछ इस प्रकार है…

आज की यह कहानी मेरी और शिल्पा की है और जैसा कि मैनें आप सभी को ऊपर बताया था कि मैं एक प्राइवेट एरलाइन की कम्पनी में नौकरी करता हूँ और हमारा ज़्यादात्तर काम देश-विदेश में घूमने का ही रहता है शिल्पा और मेरी ट्रेनिंग एक साथ ही हुई थी और नौकरी भी एकसाथ एक ही जगह पर लगी है और हमारी नाइट शिफ्ट भी कई बार साथ में ही होती थी इसी वजह से हमको कई बार रात को भी दिल्ली से लन्दन और कनाडा, न्यूजीलैंड जाना पड़ता था।

यह बात दिसम्बर 2014 की है जब हम दिल्ली से कनाडा के सफ़र में साथ ही थे रात के 2 बज रहे थे तभी एक यात्री बाथरूम के लिए गया था और काफ़ी देर तक वापस नहीं आया तो शिल्पा ने चेक किया हवाई जहाज में 2 सीटों पर यात्री नहीं थे फिर शिल्पा ने केबिन के पास वाले टॉयलेट का दरवाजा खटखटाया तो अन्दर से कोई जवाब नहीं आया फिर दूसरे टॉयलेट के पास जाने पर शिल्पा को पता चला की उस टॉयलेट में से कुछ अजीब सी आवाजें आ रही थी और शिल्पा ने फिर जल्दी से आकर वह सब मुझे बताया तो फिर हम दोनों ही वापस उस टॉयलेट की तरफ गए और ध्यान से सुनने की कोशिश करने लगे तो अन्दर से सेक्स करने और सिसकारियों की आवाजें आ रही थी अब रात के 2.30 बज चुके थे तो बाकी सारे लोग तो गहरी नींद में सो रहे थे और हम दोनों अपने कान अब दरवाजे पर लगाकर वह आवाजें सुनने लगे फिर धीरे-धीरे उनकी वह आवाजें और तेज़ होती गई और हमको बाहर तक उनकी आहह उफफ एसस्स कम ओन फक्क मीईई प्लीज्ज्ज़ आराम से सुनाई दे रही थी।

इस बीच अचानक से मैनें शिल्पा को देखा जो बाथरूम के दरवाजे पर अपने कान लगाकर उनकी आवाज़ को बड़े ध्यान से सुन रही थी और अपने एक हाथ को अपनी स्कर्ट के अंदर अपनी चूत पर भी घुमा रही थी अब शिल्पा को भी कुछ-कुछ होने लगा था और वह बिल्कुल पसीना-पसीना हो गई थी उसे इस हाल में देखकर मेरी भी हालत खराब हुई जा रही थी और टॉयलेट के अंदर से आने वाली वह आवाजें हमको और भी गरम कर रही थी तभी मैनें एकदम से कहा शिल्पा… तो वह भी एकदम से घबरा गई और डर गई लेकिन मैं सब कुछ समझ गया था कि वह अब पूरी तरह से उत्तेजित हो रही है तभी टॉयलेट के अन्दर से एकदम से आवाजें आना बंद हो गई और हम भी सावधान हो गए और अपने केबिन में आ गए और हमने देखा की वह जो टॉयलेट में थे वह दोनों ही कनाडा के यात्री थे और वह एक लड़का और एक बहुत ही सेक्सी सी लड़की थी वह लड़की हाव-भाव से तो कोई कॉल गर्ल लग रही थी कुछ देर में उनका तूफान तो शांत हो गया था पर अभी भी हमारे कानों में वह आवाज़े गूँज रही थी और हम पागल हुए जा रहे थे लेकिन मैं और शिल्पा बस एक दूसरे को देखे जा रहे थे।

अब रात के 4 बज गए थे सारे यात्री अब भी गहरी नींद में थे तो मैं चुपके से शिल्पा के पास चला गया और उससे बातें करने लगा वैसे भी हम एयर होस्टेज एकदूसरे से एकदम खुले हुए होते है तो मैनें झट से शिल्पा से पूछ लिया कि क्या हुआ कुछ हुआ क्या तुमको? तो उसने भी एक मुस्कान दी और मुझे आँख मारकर मेरी तरफ देखने लगी हम 6 महीने से साथ में काम कर रहे थे लेकिन हमको ऐसा मौका आज तक नहीं मिला था जो कि आज मिलने वाला था और फिर मैनें भी शिल्पा को वापस आँख मारी और केबिन में से साइड के टॉयलेट की तरफ जाने का इशारा किया और वैसे भी शिल्पा तो एक एयर होस्टेज थी तो उसका फिगर तो ऊपर वाले ने बहुत ही प्यार से बनाया था 36-28-36 का उसका फिगर था जो कि आज मेरे हाथों में आने वाला था फिर उसके टॉयलेट के अन्दर चले जाने के बाद मैं भी टॉयलेट के पास पहुँच गया और अन्दर से दरवाजा बन्द करके शिल्पा को किस करने लगा वह तो बिल्कुल ही पागल सी हुई जा रही थी शायद यह उसका भी पहला सेक्स हो रहा था फिर उसने मुझे कसकर पकड़ लिया और वह मेरे कान में वही शब्द बोलने लगी जो जो हमने टॉयलेट में उन दोनों के मुहँ से सुने थे।

प्लीज्ज्ज़ फक आहह उम्म ओह आह प्ल्स फक मीईइ उसके मुहँ से यह सब सुनकर मेरी तो हवा ही निकल गई थी और मैनें देखा कि मेरा लंड भी अब अपना आकार बदल रहा था और मुझे भी कुछ-कुछ होने लगा था फिर मैनें शिल्पा की ड्रेस जो की चेन वाली थी उसको एक ही झटके में खोल दिया और शिल्पा को देखा तो देखता ही रह गया वह क्या मस्त माल थी उसके इतने गोरे बब्स थे कि जैसे उनसे अभी दूध बाहर आने वाला हो फिर मैनें धीरे-धीरे उसके बब्स को किस करना शुरू किया और दबाने भी लगा तो अब शिल्पा के मुहँ से सिसकियों की आवाजें भी और बढ़ने लगी थी और वह मेरे सिर को अपने दोनों बब्स के बीच में ज़ोर से दबा रही थी और मैं अब उनको और ज़ोर-ज़ोर से चूस रहा था और मैनें शिल्पा की पैन्टी भी अब उतार दी और अपनी एक ऊँगली से उसकी चूत को सहला रहा था फिर वहीं टॉयलेट में हम दोनों 69 की पोजीशन में हो गए वह मेरे लंड को लोलीपॉप की तरह बड़े ही प्यार से चूस रही थी और मैं भी उसकी रसभरी चूत को आइसक्रीम की तरह चाट रहा था उसकी चूत अब पूरी तरह से गीली हो चुकी थी उसकी चूत एकदम गुलाबी बिना बालों वाली एकदम साफ़ और जैली की तरह थी अब मुझसे भी और रहा नहीं गया और हम दोनों ही खड़े हो गए और उसे मैनें खड़े-खड़े ही गोद में उठाकर अपनी कमर से लपेट लिया और अपने लंड को शिल्पा की चूत में डालने लगा मेरा लंड उसकी टाईट चूत में बड़ी ही मुश्किल से जा सका था मेरे लंड डालने से वह बार-बार ही उछल रही थी तो फिर मैनें उसके होठों को अपने होठों में लिया और अपने लंड को उसकी चूत पर धीरे-धीरे रगड़ते हुए एकदम से ही उसकी चूत में घुसा दिया तो उसकी आँखों में से आँसू आ गए थे और वह चिल्लाना भी चाह रही थी पर उसकी आवाज को मैनें अपने मुहँ से दबा रखा था फिर मैं कुछ देर तक बिना हिले हुए उसी पोजीशन में रहा और उसके बब्स को भी सहलाता रहा तब कहीं जाकर वह थोड़ी शान्त हुई।

और धीरे-धीरे अब वह भी मेरी कमर पर आगे-पीछे होकर मेरे लंड को अपनी चूत में ले रही थी और मेरे कान के पास आकर बोल रही थी ओह कुणाल प्लीज़ थोड़ा और अन्दर डालो ना आअहह और डालो ना प्लीज़ कुणाल प्लीज़ फक मी आअह कुणाल और उसके मुहँ से ऐसी मादक आवाजें सुनकर अब मैं भी पूरे जोश में आ गया था और उसे ज़ोर-ज़ोर से चोद रहा था उस पूरे टॉयलेट में अब ज़ोर-ज़ोर से बस फच-फच की और शिल्पा की मादक सिसकारियों की ही आवाजें गूँज रही थी हवाई जहाज के सारे यात्री तो गहरी नींद में सो रहे थे तो हम और भी बेफिकर हो गए थे और अपनी ही मस्ती में चुदाई करने में लगे हुए थे यह शायद शिल्पा का भी पहला सेक्स था तो हम दोनों को ही बहुत मजा आ रहा था लगभग 20-25 मिनट तक सेक्स करने के बाद मैनें उसको टॉयलेट में ही घोड़ी बनाया और उसके पीछे से जाकर उसको तेज-तेज चोदने लगा फिर 8-10 तगड़े-तगड़े धक्कों के साथ ही मैनें अपना सारा का सारा गरम लावा उसकी चूत में ही उड़ेल दिया और फिर 10 मिनट तक एकदूसरे से ऐसे ही चिपककर हल्के-हल्के झटकों के साथ हम दोनों ही अपने पहले सेक्स को महसूस कर रहे थे और फिर हम दोनों ने ही उठकर अपने-अपने कपड़े सही करे और बाहर आ गए और एकदम सामान्य से हो गए थे लेकिन फिर भी हमने एक दूसरे को आँख मारी और कहा कि अब हमारी यह चुदाई की उड़ान ऐसे ही चलती रहेगी और हमको अब जब कभी भी मौका मिलता है हम हवाई जहाज में सेक्स करते है।

धन्यवाद कामलीला के प्यारे पाठकों !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *