एक के साथ दो की चुदाई फ्री

हाय दोस्तों मैं Kamukta राज एकबार फिर से Antarvasna आपके सामने कामलीला पर अपनी एक और नई घटना के साथ आया हूँ जो कि मेरे साथ अभी कुछ दिन पहले ही हुई है।

अब मैं आपका ज्यादा समय ना लेते हुए सीधे ही मेरी कहानी सुनाने जा रहा हूँ लड़के कहानी पढ़ते हुए ध्यान से अपना लंड हाथ में लेकर हिलाए और लड़कियां अपनी चूत में ऊँगली करती रहें।

आज की यह कहानी कामलीला की एक फैन की है उसने मेरी पिछली कहानी पढ़कर मुझे मेल किया जिसमें उसने लिखा था कि मुझे आपकी कहानी पढ़कर बहुत मज़ा आया मैनें भी जवाब में उसको धन्यवाद कहा और उससे पूछा कि तुम कहाँ से हो तो थोड़ी देर बाद उसका जवाब आया कि वह भोपाल से है फिर मैनें उससे पूछा कि तुम्हारा नाम क्या है? तो उसने बताया कि लोग मुझे प्यार से निक्की कहते है तो फिर मैनें उससे और पूछा कि क्या तुम एक लड़की हो? तो उसने कहा हाँ और बातों ही बातों में हमने एक दूसरे का मोबाइल नंबर भी ले लिया और उसने मुझे अपने फेसबुक पर भी फ्रेंड बना लिया और हम खूब बातें करते रहे हमारी बातें अब बहुत आगे तक बढ़ चुकी थी अब हम सेक्सी बातें भी करने लगे थे।

फिर एक दिन उसने कहा कि उसके घर पर कोई भी नहीं है और उसको सेक्स करने का बहुत मन कर रहा है तो हमने सेक्स चेट करने का प्लान बनाया और हम दोनों एक साथ तैयार भी हो गए थे जब मैनें उसको पहली बार वेब केमरे में देखा तो मैं उसको देखता ही रह गया उसने गुलाबी टी-शर्ट और नीले रंग का जींस का शॉर्ट पहना हुआ था फिर मैनें उसको अपनी टी-शर्ट निकालने को कहा तो पहले तो वह थोड़ा शर्मा रही थी तो मैनें उसके सामने अपने सारे कपड़े उतार दिए और उसको फिर से अपनी टी-शर्ट उतारने को कहा और थोड़ी देर बाद वह मान भी गई और वेब केमरे के सामने से हटकर अपनी टी-शर्ट उतारकर फिर से मेरे सामने आई तो वह क्या गजब दिख रही थी मैं आपको बता भी नहीं सकता क्योंकि जब मैनें उसके बब्स को देखा तो मेरा उनको खा जाने का मन कर रहा था।

फिर थोड़ी देर बाद मैनें उसको बोलकर उसकी पैन्टी भी उतरवा दी और जब उसकी चूत को देखा तो लगा कि यार क्या मस्त चूत है इसकी तो.. फिर मैनें उसको कहा कि तुम्हारी चूत तो बहुत ही गुलाबी है तो उसने मुझे धन्यवाद बोलकर मेरे लंड का साइज पूछा तो मैनें उसको बताया 6.5” का है. तो वह सुनकर खुश हो गई और मुझसे कहने लगी कि मेरे घरवाले 3-4 दिन के लिए घर से बाहर गये है तो कल तुम भोपाल आ सकते हो क्या? फिर मैनें कहा कि ठीक है और मैं अगले दिन भोपाल चला गया स्टेशन पर उतरकर मैनें उसको फोन किया तो उसने कहा बाहर जो काले रंग की कार है उसके अंदर आ जाओ और मैं जब कार में गया तो मैनें देखा कि कार में 2 औरतें और भी बैठी थी तो उसने मेरा उन सब से परिचय करवाया और मैनें देखा कि वह दोनो आंटी भी मस्त लग रही थी उनमें से एक का नाम सपना था जिसका फिगर 32-28-34 था और दूसरी वाली का नाम प्रिया था जिसका फिगर 36-30-36 था उसकी गांड बहुत ही मस्त थी जिसे देखते ही मेरा लंड खड़ा हो गया फिर घर पहुँचकर उन सब ने कहा कि तुम सफ़र में थक गये होंगे तो मैनें भी कहा हाँ तो वह बोली कि तुम कुछ देर आराम कर लो. हम तुमको बाद में उठा देंगे।

फिर जब 2-3 घंटे के बाद उन्होनें मुझे जगाया और हम वापस कार में बैठकर शहर से बाहर आ गए वहाँ पहुँचकर मैनें देखा कि वह एक फार्म हाउस है जहाँ पर हमारे अलावा और कोई भी नहीं था फिर हम अंदर चले गए और प्रिया ने मुझे कॉफ़ी लाकर दी तब शाम के 6.30 बजे थे तो मैं सफ़र की ज्यादा थकान की वजह से वापस सो गया और जब रात के 8.30 बजे मैं उठा तो देखा कि तब तक वह लोग होटल से खाना मंगवा रहे थे और थोड़ी ही देर बाद खाना भी आ गया और खाना खाने के बाद सपना मुझे बेडरूम में ले गई और मेरे लंड को मेरी पेन्ट के ऊपर से ही सहलाने लगी और मैं भी उसके 32 के बब्स को बड़े ही प्यार से दबा रहा था तभी प्रिया और निक्की भी वहाँ नंगी होकर आ गई थी शायद वह दोनों ही दूसरे कमरे में समलैंगिक सेक्स कर रहे थे।

मैं तो प्रिया की गांड देखकर बहुत खुश था तभी निक्की मेरे लंड को अपने मुहँ में लेकर चूसने लगी ऐसा लग रहा था कि जैसे वह बहुत दिनों से लंड की प्यासी हो और सपना मेरे बालों को सहला रही थी और मुझे नंगा भी कर रही थी और थोड़ी देर बाद उसने मुझे पूरा ही नंगा कर दिया था फिर प्रिया ने मुझे बेड पर धक्का दिया और बेड पर लेटा दिया और मेरे ऊपर आकर अपनी चूत को मेरे मुहँ के पास रखकर चटवाने लगी दोस्तों क्या मस्त चूत थी उसकी आज भी वही स्वाद आ रहा था जैसा किसी 18 साल की कच्ची कली की चूत में आता है।

जब निक्की मेरे लंड को चूस रही थी तभी सपना निक्की की चूत में ऊँगली कर रही थी और चाट भी रही थी फिर थोड़ी देर बाद निक्की बोली कि अब मुझसे नहीं रहा जाता फाड़ दो मेरी चूत को मैं और मेरी यह चूत बहुत दिनों से प्यासी है और यह बोलकर वह मेरे ऊपर बैठ गई और मेरे लंड को अपनी चूत में लेने लगी फिर जैसे ही उसने मेरे लंड को अपनी चूत में लिया तो वह चीख पड़ी और रुक गई और कहने लगी कि यह तो इतना बड़ा लंड है कि मेरी चूत को तो पूरी ही फाड़ देगा और फिर धीरे-धीरे ऊपर नीचे होने लगी उस समय सपना और प्रिया एकदूसरे के बब्स को दबा रही थी और मुझे किस भी कर रही थी निक्की को भी अब बहुत मज़ा आ रहा था तो वह भी अब तेज-तेज ऊपर नीचे होने लगी थी फिर 15 मिनट के बाद सपना बोली कि अब तो मेरी बारी है तो उसने निक्की को नीचे उतारा और अब वह मेरे ऊपर आकर निक्की की तरह मेरा लंड अपनी चूत में डालने लगी और ऊपर-नीचे होकर चुदने लगी और चुदाई के दौरान वह बड़ी अजीब तरह की आवाजें निकाल रही थी जैसे आअहह.. आअहह…..म्‍म्महुउआ… आअहह…..एयाया…

फिर थोड़ी देर बाद ही वह झड़ गई और अब प्रिया की बारी थी तो मैनें प्रिया को बेड पर नीचे लेटा दिया और मैं उसके ऊपर चढ़कर उसके बब्स को दबाने लगा और अपना लंड उसकी चूत में डालकर उसको चोद भी रहा था फिर 10-15 मिनट के बाद मैनें उसको कहा कि मुझे अब तुम्हारी गांड भी मारनी है तो पहले तो वह मना करने लगी पर थोड़ी देर बाद वह मान भी गई और फिर मैनें उसको घोड़ी बनने को कहा और अपना लंड निक्की और सपना को चूसने को कहा तो फिर उन दोनों ने मेरा लंड चूस-चूसकर लाल कर दिया और प्रिया की गांड को भी चाट-चाटकर चुदाई के लिए तैयार कर दिया और फिर जैसे ही मैनें प्रिया की गांड में अपना लंड डाला तो वह बोल उठी कि अबे मेरी गांड को पूरा ही फाड़ देगा क्या बहुत दर्द हो रहा है? बाहर निकाल.. तो फिर मैनें निक्की को प्रिया के बब्स दबाने को कहा और सपना को उसके होठों पर किस करने को कहा फिर थोड़ी देर बाद प्रिया को भी मज़ा आने लगा तो वह भी अपनी गांड को आगे-पीछे करके मेरा साथ देने लगी और कहने लगी कि और चोदो मुझे और मेरी गांड को आज फाड़ दो तो मैं भी तेज-तेज धक्कों के साथ उसकी गांड मारने लगा और फिर 15 मिनट के बाद जब मैं झड़ने वाला था तो प्रिया ने कहा कि अपना माल मेरी गांड के अंदर ही छोड़ दो और मैनें अपना सारा माल उसकी गांड के अंदर ही छोड़ दिया।

और उसके ऊपर ही लेट गया फिर बाद में निक्की ने मेरा लंड चाट-चाटकर पूरा साफ़ कर दिया और प्रिया की गांड को सपना ने चाट-चाटकर साफ़ कर दिया था

उस रात हम सब ने 3 बार और चुदाई करी और फिर बड़े आराम से तीनों ही नंगे ही सो गए।

और हम सब फिर अगले दिन सुबह 11 बजे उठे और सुबह एकबार फिर से बाथरूम में भी नहाते हुए चुदाई करी और फिर नाश्ता करने के बाद मैनें उन सब से विदा ली और जल्दी ही मिलने का वादा करके उन सब को किस करके वहाँ से चला आया आज भी जब वह मुझे बुलाती है तो मैं उनको खुश करने वहाँ चला जाता हूँ वह सब मेरी चुदाई से पूरी तरह से सन्तुष्ट है ।

धन्यवाद प्यारे पाठकों !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *