नौकर का पकड़ा बॉयफ्रेंड से झगड़ा पार्ट 2

हाँ तो दोस्तों Antarvasna नौकर का पकड़ा Kamukta बॉयफ्रेंड से झगड़ा कहानी के दूसरे भाग में आपका स्वागत करती हूँ आशा करती हूँ कि आपको इस कहानी का पहला भाग बहुत पसंद आया होगा अब मैं आपके लिये इस कहानी का अगला भाग लेकर आयी हूँ तो कहानी पढिये और आनन्द लीजिये।

आप यह कहानी कामलीला डॉट कॉम पर पढ़ रहे है..

मोनू अब मेरे पैरों के बीच में आ गया तो मैं समझ गई थी कि अब मेरे मन की असली मुराद पूरी होने वाली है।

लेकिन मैं उसके लंड के बड़े साइज़ को देखकर घबरा भी रही थी फिर उसने मेरी गांड के नीचे 2 तकिये लगा दिए जिससे मेरी चूत एकदम से उभरकर ऊपर उठ गई थी अब उसने मेरी दोनों टाँगों को पकड़कर फैला दिया और उसने अपने लंड के टोपे को मेरी चूत के दोनों होठों के बीच में रखा और अब वह अपने लंड को धीरे-धीरे अन्दर दबाने लगा जिससे मुझे अब थोड़ा-थोड़ा दर्द होने लगा और मेरे मुहँ से एकदम से एक चीख निकल गई तो वह मुझसे बोला कि थोड़ा सा दर्द सहन करो बेबी अभी कुछ ही देर में तुम्हारा सारा दर्द मजे में बदल जाएगा मोनू अब अपने लंड को मेरी चूत में धीरे-धीरे घुसाने लगा और मैं फिर से चिल्लाने लगी तो वह रुक गया फिर थोड़ी देर में जब मैं शांत हो गई तो उसने फिर से अपना लंड धीरे-धीरे अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया वह अपना पूरा लंड मेरी चूत में डाले बिना ही मुझे चोद रहा था और थोड़ी ही देर के बाद मेरा दर्द गायब हो गया और मुझे मज़ा आने लगा और मैं आहें भरने लगी फिर जब उसने देखा कि मेरा दर्द अब कम हो गया है और मुझे मज़ा आ रहा है तो उसने एक धक्का तेज लगा दिया जिससे मैं फिर से चीख उठी और उसका लंड मेरी चूत में थोड़ा और अन्दर घुस गया और वह उतना ही लंड मेरी चूत में डालकर मुझे चोदता रहा फिर थोड़ी देर के बाद जब मैं फिर से थोड़ी शांत हुई तो उसने फिर एक और ज़ोर का धक्का लगा दिया उसका लंड मेरी चूत में और ज़्यादा घुस गया वह मुझे इसी तरह चोदता रहा मैं जैसे ही शांत होती तो मोनू एक तेज धक्का मार देता था और उसका लंड मेरी चूत में और भी ज़्यादा अन्दर घुस जाता था करीब 20-25 मिनट की चुदाई के बाद मोनू मेरी चूत में ही झड़ गया इस बीच मैं भी 2-3 बार झड़ चुकी थी।

उसका लंड अभी तक मेरी चूत में केवल 6.5 इंच तक ही घुसा था और 1 इंच अभी भी बाकी था अब उसने अपना लंड मेरी चूत से बाहर निकाला और मेरे मुहँ के पास कर दिया तो मैं उसको बड़े ही प्यार से चूसने लगी और थोड़ी ही देर में उसका लंड फिर से खड़ा हो गया तो उसने मुझे अब घोड़ी की तरह बनने को कहा और वह मेरे पीछे आ गया और उसने मेरी चूत को फैलाकर उसके बीच में अपने लंड को फँसा दिया और मुझसे बोला कि अभी तक तो मैंने तुमको बहुत आराम से चोदा है पर अब तुम कितना भी चिल्लाओ लेकिन मैं तुम्हारी एक भी नहीं सुनुँगा और फिर ऐसा कहकर उसने मेरी कमर को ज़ोर से पकड़ लिया और एक जोरदार धक्का मारा तो उसका आधा लंड मेरी चूत में घुस गया उस अचानक हुए हमले से मैं जोर-जोर से चिल्लाने लगी लेकिन उसने मेरी कोई परवाह नहीं की और बहुत ही ताक़त के साथ धक्के मारने लगा।

अब मेरी चूत में बहुत तेज दर्द होने लगा और मैं पसीने से एकदम तर हो गई फिर भी वह नहीं रुका और उसने अपनी पूरी ताक़त के साथ मेरी चुदाई शुरू कर दी थी और थोड़ी ही देर बाद उसने अपना पूरा का पूरा 7.5 इंच लम्बा लंड मेरी चूत के अंदर घुसा दिया और फिर वह 2-3 मिनट के लिए रुका और बोला अब जाकर तुम्हारी चूत में मेरा पूरा लंड गया है अब मैं इसको चोद-चोदकर एकदम ढीला कर दूँगा 2-3 मिनट तक रुके रहने के बाद उसने फिर से अपने हाथों से मेरी कमर को ज़ोर से पकड़ लिया और फिर से मेरी चुदाई करने लगा मुझे अभी भी बहुत दर्द हो रहा था और 10 मिनट की चुदाई के बाद जाकर मेरा दर्द कुछ कम हुआ और मुझे अब मज़ा आने लगा।

वह मुझे बड़ी ही बेदर्दी के साथ चोद रहा था इस बार लगभग 30 मिनट की चुदाई के बीच मैं 3-4 बार झड़ चुकी थी पर वह रुकने का नाम ही नहीं ले रहा था मोनू अभी नहीं झड़ा था और उसने अपने लंड को मेरी चूत से बाहर निकाला और मेरी गांड के छेद पर रख दिया जिससे मैं डर के मारे थर-थर करके काँपने लगी और मैंने उसे बहुत मना किया कि मेरी गांड को छोड़ दो लेकिन वह नहीं माना उसका लंड मेरी चूत के पानी से एकदम गीला और चिकना हो रहा था तो उसने मेरी गांड में अपना लंड घुसाना शुरू कर दिया मैं अपनी गांड में हो रहे दर्द से तड़पने लगी लेकिन वह तो रुकने का नाम ही नहीं ले रहा था वह मुझसे बोला कि अब मैं तुम्हारी गांड के छेद को भी बड़ा कर दूँगा मैं चिल्लाती रही और मोनू मेरी गांड में अपना लंड घुसाता रहा 5-7 मिनट की कोशिश के बाद आख़िर में उसने अपना 7.5 इंच का पूरा लंड मेरी गांड में घुसा ही दिया मैं अभी भी दर्द से चिल्ला रही थी और रो रही थी लेकिन वह रुक ही नहीं रहा था और तेज़ी के साथ अपने लंड को मेरी गांड में अन्दर बाहर करता जा रहा था।

उसने लगभग 15-20 मिनट तक मेरी गांड मारी थी लेकिन वो झड़ा नहीं था तो मैंने उससे पूछा कि और कितनी देर तक चोदोगे मुझे तो वह बोला कि मेरी उम्र 30 साल है और मैंने बहुत चुदाई की है तो मैं दुबारा इतनी जल्दी नहीं झड़ने वाला मुझे तो बहुत दिनों के बाद इतनी टाईट चूत मिली है आज और कितनी गोरी और फूली हुई चूत है जो कि आज तक मैंने देखी ही नहीं है इसे तो मैं जीवनभर चोदने के लिये तैयार हूँ और बेबी तुम भी तो बहुत खुबसुरत हो तो तुमको इतनी जल्दी छोड़ देना मेरे जीवन कि सबसे बड़ी भूल होगी अभी तो मैंने तुम्हें लगभग 40 मिनट ही चोदा है और अभी तो लगभग 30 मिनट तक और चोदूंगा तब जाकर मेरे लंड से पानी निकलेगा मैं तो उसकी बात सुनकर घबरा ही गई और मैंने उससे कहा कि तुम अब रहने दो बाद में फिर कभी अपनी इच्छा को पूरी कर लेना पर वह नहीं माना और उसने अपना लंड मेरी गांड से बाहर निकाला और फिर से मेरी चूत में घुसा दिया मेरी चूत में लंड घुसाने के बाद उसने बहुत तेज़ी के साथ मेरी चुदाई शुरू कर दी थी 5-7 मिनट बाद ही उसने मेरी चूत से लंड को निकालकर वापस मेरी गांड में डाल दिया और चोदने लगा वह इसी तरह हर 5-7 मिनट के बाद मेरी चूत और गांड की एकदम मस्त चुदाई करता रहा और लगभग 20-25 मिनट तक इसी तरह चोदने के बाद वह बोला कि मैं अब झड़ने वाला हूँ अब तुम ही बताओ कि मेरे लंड का पानी कहाँ लेना पसंद करोगी अपनी चूत में या गांड में तो मैंने उसको कहा कि तुम मेरी गांड में ही अपना पानी निकाल दो चूत में तो तुम पहले भी निकाल चुके हो तो फिर उसने अपना लंड मेरी चूत से निकालकर वापस मेरी गांड में डाल दिया और मेरी गांड मारने लगा उसके झड़ने का वक़्त नज़दीक आ रहा था तो वह अब एक तूफान की तरह मेरी गांड में अपने लंड को अन्दर बाहर कर रहा था।

फिर थोड़ी ही देर में उसके लंड से पानी निकलना शुरू हुआ और जिससे मेरी गांड एकदम भर गई उसका पूरा पानी निकल जाने के बाद मोनू मेरे ऊपर से हट गया था मेरी चूत और गांड कई जगह से कट गई थी और मुझे हल्की-हल्की जलन भी हो रही थी बिस्तर पर भी ढेर सारा खून फैला हुआ था और मेरी चूत एकदम पाव रोटी की तरह सूज गई थी मेरी चूत और गांड में बहुत दर्द हो रहा था लेकिन मुझे जो मज़ा इस चुदाई से मिला उसके आगे यह दर्द कुछ भी नहीं था फिर उसने मुझसे कहा कि तुम्हारी चूत में दर्द बहुत हो रहा होगा तो मैंने अपना सिर हाँ में हिला दिया तो वह किचन से पानी गरम करके ले आया और मेरी चूत को सेकने लगा और बोला इससे दर्द थोड़ा कम हो जाएगा और कुछ देर तक सिकाई के बाद सच में मेरा दर्द बहुत हद तक कम हो गया था।

अब तक सुबह भी हो चुकी थी और मैं बाथरूम जाना चाहती थी पर मैं उठ नहीं पा रही थी तो मैंने उससे कहा मैं बाथरूम जाना चाहती हूँ लेकिन उठ नहीं पा रही हूँ तो वह मुझे अपनी गोद में उठाकर बाथरूम में ले गया और मैंने उससे कहा कि अब तुम बाहर जाओ मुझे नहाना है तो वह बोला कि मुझे भी नहाना है हम दोनों साथ ही नहाते है फिर उसने मेरे सारे बदन पर साबुन लगाया और अपने बदन पर भी और फिर नहाने के बाद वह मुझे अपनी गोद में ही उठाकर वापस बिस्तर पर ले आया और वापस से वह मेरे बदन को देखने लगा मेरे बदन की खूबसूरती उससे बर्दास्त नहीं हो रही थी और वह फिर से जोश में आ गया और उसका लंड फिर तन गया तो मैं घबरा गई उसने मेरे मना करने के बाद भी मुझे घोड़ी बनाकर फिर से मेरी चुदाई शुरू कर दी इस बार उसने केवल मेरी चूत की ही चुदाई करी और उसने इस बार मुझे लगभग 45 मिनट तक चोदा तब कहीं जाकर उसके लंड से पानी निकला इस दौरान मैं 4-5 बार झड़ चुकी थी चुदाई खत्म होने के बाद मैंने उससे कहा मैं चल नहीं पा रही हूँ मेरे मम्मी पापा आ जाएँगे तो क्या जवाब दूँगी।

तो वह बोला तुम पहले नाश्ता कर लो मैं अभी बाज़ार से दवा ले आता हूँ और कुछ देर के बाद हमने नाश्ता कर लिया और वह बाज़ार चला गया और 30 मिनट के बाद वह एक क्रीम और कुछ गोलियाँ लेकर आया और उसने मुझे दवा खिला दी और मेरी चूत पर क्रीम लगाने लगा क्रीम लगाने के बाद वह खाना बनाने चला गया और 1 घंटे के बाद मेरा सारा दर्द ही खत्म हो गया था और खाना बन जाने के बाद उसने मेरी थाली में ही मेरे साथ खाना खाया और रात हुई तो उसने मुझे फिर से चोदना शुरू कर दिया इस बार वह रुक-रुककर मुझे चोद रहा था जब वह झड़ने वाला होता तो हट जाता और कुछ देर आराम करता और थोड़ी देर आराम करने के बाद वह फिर से मुझे चोदने लगता इसी तरह वह बिना झड़े हुए मुझे पूरी रात चोदता रहा और सुबह को उसने अपनी चुदाई पूरी करी और मेरी चूत में ही झड़ गया उस पूरी रात में मैं 8-10 बार झड़कर पूरी खाली हो चुकी थी।

मम्मी पापा के आने तक उसने मुझे 6-7 बार चोदा था और फिर मैंने जब कुछ दिनों के बाद अपने एक बॉयफ्रेंड से चुदवाया तो मुझे मज़ा तो आया लेकिन मोनू की चुदाई जैसा नहीं मेरा बॉयफ्रेंड तो मुझे 15 मिनट ही चोदने के बाद झड़ गया अब मैं पूरी तरह समझ गई की उसकी 6-7 बार की चुदाई नये और जवान लड़कों से 24 बार चुदवाने के बराबर थी और जब भी मम्मी पापा बाहर जाते तो हम लोग मौका पाकर खूब चुदाई करते थे।

धन्यवाद प्यारे पाठकों !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *