मेरी बीवी की चुदाई 4

इसके बाद जो हुआ वो मेरी पत्नी ने कभी सपने मैं भी नहीं सोचा था Hindi Sex Stories Antarvasna Kamukta अफ़ज़ल ने आगे जाकर दरवाज़ा बंद कर दिया और सोफ़े पर बैठ गया। मेरी पत्नी ने उसे डाँटे हुए कहा – ” तुम्हारी हिम्मत कैसे हुयी उस सोफ़े पर बैठने की, ज़िंदगी भर कमाओ तब भी तुम वो अफ़ॉर्ड नहीं कर सकते , चलो तुम सब यहाँ से इसी वक़्त निकल जाओ”

अफ़ज़ल ज़ोर ज़ोर से हँसने लगा और बोला – मैडम पहले देख और सोच कर बोलो, ग़ुस्सा मत दिलाओ वरना तुम्हें नहीं पता हम क्या क्या कर सकते हैं
पत्नी – क्या करोगे तुम, मैं अभी थाने फ़ोन करती हु
अफ़ज़ल एकदम से खड़ा हुआ और उसने धोबी और दूधवाले को बोला – इस मैडम को इनकी जगह बतानी होगी, इन्हें ज़रा इस डाइनिंग टेबल पर लिटाओ ।

अफ़ज़ल के ये कहते ही दूधवाले और धोबी ने मेरी पत्नी को एक एक हाथ पकड़ के लगभग खींचते हुए डाइनिंग टेबल तक ले गए। अफ़ज़ल वहाँ पर पहुँचा और उसने मेरी पत्नी के बाल पीछे की तरफ़ खींचते हुए उसका सर डाइनिंग टेबल पर रख दिया। अब मेरी पत्नी बड़ी अजीब सिचूएशन मैं थी, उसका सर एकदम पीछे की तरफ़ खिंचा हुआ था, पैर ज़मीन पर थे और कमर मैं से उसका शरीर 90 डिग्री मुड़ा हुआ था।

अफ़ज़ल ने दूसरे हाथ से वो पोलिथिन जिसमें छिपकली थी उसे खोला और छिपकली निकल कर मेरी पत्नी की कमर के पास ले आया, मेरी पत्नी डर के मारे ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगी और सब लोग हसने लगी

पत्नी – प्लीज़ अफ़ज़ल इसे दूर ले जाओ, ये क्या कर रहे हो
अफ़ज़ल – क्यूँ मैडम, अभी तो बड़ी चिल्ला रही थी , अब क्या हुआ
पत्नी – कुछ नहीं बस तुम लोग मेरे घर से अभी के अभ दफ़ा हो जाओ
अफ़ज़ल – अच्छा

ऐसा कह के अफ़ज़ल ने मेरी बीवी की कमर पर से साड़ी को हटा दिया, अब सबकी नज़रें मेरी पत्नी के पेट पर टिक गई। नीले कलर का स्लीव्लेस ब्लाउस, उसके नीचे लम्बा सा सुराहिदार पेट और उसके बीच मैं एक गहरी सी नाभि, पत्नी के दोनो हाथ धोबी और दूधवाले की पकड़ मैं, बाल अफ़ज़ल के हाथो मैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *