मेरी कजन की चुदाई की कहानी

मेरी कजन की चुदाई की कहानी

हाई मेरा नाम अनिश है. मैं मस्तराम.नेट का रेग्युलर पाठक हूँ. Antarvasna Kamukta Hindi sex Indian Sex Hindi Sex Kahani Hindi Sex Stories वैसे तो यहाँ पर मैं बहुत सारी कहानियाँ पोस्ट कर चुका हूँ जिन्हे आपने पढ़ा भी है आज मैं अपनी कजन की चुदाई की कहानी लेकर हाजिर हूँ. मैं पहले आप लोगो को बता दू, कि मेरे लंड का साइज़ ५.५ इंच लम्बाई में है और ३ इंच मोटा है. मेरा लंड और मेरी गरम हरकते किसी भी लड़की को सीदीयूज़ करने के लिए काफी है. अब मैं आपका और टाइम ना वेस्ट ना करते हूँए, सीधे स्टोरी पर आता हूँ. बात तब की है जब मैं १२थ में था और मैं अपने गाँव में ही रह कर पढाई कर रहा था. में एक बुआ की बेटी रूचि जो हमारे साथ ही रहती थी अपने ननिहाल में; क्योंकि मेरी बुआ पटना में रहती है. रूचि एक मस्त माल है. उसकी चुचिया बहुत ही मस्त है और उसकी गांड भी बहुत बड़ी है. उसको देख कर कोई भी दीवाना हो जाए. मैं उसको देख कर रोजाना मुठ मारा करता था. जब वो नहाने जाती थी. तो एक बार मैंने उसे बाथरूम में एक होल से देखा, तो वो पूरी की पूरी नंगी थी और नहा रही थी और ये देख कर मेरा लंड एकदम से खड़ा हो गया था. तभी मैंने देखा, कि वो धीरे – धीरे अपनी चूत में फिन्गेरिंग करने लगी थी. ये देख कर मैं और भी ज्यादा उतेजित हो गया और उसको चोदने का प्लान बनाने लगा. पर मुझे पता नहीं था, कि ये मौका मुझे बहुत जल्दी मिलने वाला है. वो हूँआ यू कि, मेरी चाची के भाई की शादी होने की वजह से सभी ओडिशा जा रहे थे और मेरे १२थ के एग्जाम आने वाले थे. इसलिए मैं जा नहीं पा रहा था. और रूचि यहीं रुक गयी. उस ने मेरे खाना बनाने की जिम्मेदारी ले ली थी. वैसे भी वो वहां जाने में कुछ खास इंटरेस्टेड नहीं थी. पुरे घर में मेरी, दादी और रूचि ही थे. मैंने दादी को कह दिया था, कि मैं लेट नाईट स्टडी करूँगा और उसके बाद सोने जाऊंगा. वो मुझे अच्छा ओके बोल कर चली गयी सोने को. मेरा पढाई में मन नहीं लग रहा था, तो मैंने टीवी चालू कर दिया और जब मैं टीवी देख रहा था. आप यह कहानी मस्ताराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है | तो रूचि मेरे पास आई और वो मेरे ही बगल में लेट गयी और टीवी देखने लगी. टीवी देखते – देखते हम कब सो गये, हमे पता भी नहीं चला. फिर करीब रात को २ बजे मेरी नींद टूटी. तो मैंने देखा, कि रूचि मेरे बगल में ही सो रही थी और उसका लोअर थोड़ा नीचे खिसक गया था. जिस से उसके कुछ चूत के बाल दिखने लगे थे. मैंने पहले टीवी ऑफ कर दिया और फिर उसे हिलाया और आवाज़ दी. मुझे लगा था, कि वो जागी हूँई है. लेकिन उसने मुझे कोई रिप्लाई ही नहीं दिया. अब मैं समझ गया था, कि वो पूरी गहरी नींद में है. मैंने सोचा, कि इसको चोद ना सकू. पर कम से कम इसको चूत को देख कर और उसको चाट कर सतुष्ट हो सकता हूँ. सो मैंने उसका लोअर धीरे – धीरे नीचे उतारना शुरू कर दिया. मैंने उनके लोअर उसके घुटनों तक कर दिया और उसके थोड़े पैरो को फैलाया और अपनी जीभ को उसकी चूत पर लगा दिया. मैंने उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया. मेरी उसे चोदने की इच्छा बढती जा रही थी. फिर धीरे – धीरे मैंने अपनी ऊँगली में थूक लगाया और उसकी चूत में इन्सर्ट करने लगा. वो थोड़ा सा हिली, तो मैं डर गया, कि कहीं ये जाग तो नहीं गयी है. मैं रुक गया और फिर मैंने देखा, कि वो एकदम शांत हो गयी है. तो मैं फिर उसकी चूत को चाटने लगा. उसकी चूत का टेस्ट अजीब था बट मस्त था. मैं साथ ही उसकी चुचिया दबा रहा था. फिर थोड़ी देर बाद, मैंने नोटिस किया, कि वो जाग चुकी थी और इस सबको एन्जॉय कर रही थी. तो मैं और जोर से उसकी चूत को चाटने लगा. वो अब मदहोश होने लगी थी और उसके मुह से अहहाह अहहाह अहहाह अहहाह की आवाज़े निकलने लगी थी. तभी उसने मेरे सिर को पकड़ा और अपनी चूत में दबाने लगी. तभी मैं समझ गया, कि वो अब झड़ने वाली है और मैंने और भी तेज उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया. अब उसके शरीर एकदम से अकड़ गया और वो झड गयी. मैंने उसका सारा पानी पी लिया. अब मेरी बारी थी और मैंने उसके मुह में लंड डालने की कोशिश की. तो उसने मुझे मना कर दिया बट मेरे फ़ोर्स करने पर वो मेरे लंड को चूसने लगी. उस वक्त मैं सातवे आसमान पर था और थोड़ी देर बाद, मैं भी झड गया और उसके मुह में लंड और अन्दर डाल कर उसको अपना सारा माल पिला दिया. फिर मैंने उसको नंगा करने की कोशिश की, तो वो कहने लगी कि आज के लिए इतना ही काफी है. पर मैंने बोला – जानेमन अभी तो जन्नत बाकी है. मैंने उसके ऊपर से उसकी टीशर्ट को उतार दिया और देखा, कि उसने अन्दर कुछ नहीं पहना था. उसको नंगा करने के बाद, मैं खुद भी नंगा हो गया. अब हम दोनों ने फ्रेंच किस करना शुरू करना शुरू कर दिया और करीब ५ मिनट तक करते रहे. उसके बाद, मैं उसकी चुचियो को चूसने लगा और दबाने लगा. वो फिर से गरम होने लगी अहः अहहाह ऊओहोहोहो अहहहः ह्म्म्मम्म यम्म्म्म की आवाज़े निकालने लगी. मैं उसकी चूत में एक फिंगर डाल कर उसकी फिन्गेरिंग करने लगा. वो अब मस्त होने लगी थी | आप यह कहानी मस्ताराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है | फिर वो कहने लगी अब और ना तरसाओ.. डाल दो अन्दर.. फिर मैंने अपने लंड को नीचे किया और उसकी चूत पर रगड़ने लगा. वो और ज्यादा मचलने लगी और बोली, कि अबचोद दो मुझे.. मैं अब और नहीं सह पाऊँगी.. मैंने अब उसके लिप्स को अपने लिप्स में दबा कर लिप लॉक कर लिया और अपने लंड को उसकी चूत में डालने लगा. मुझे लंड डालने में परेशानी हो रही थी. उसकी चूत बहुत टाइट थी. मैं समझ गया था, कि वो वर्जिन है. तो मैंने उसकी चूत पर और अपने लंड पर थोड़ी वेसलिन लगायी और लंड को फिर से उसकी चूत पर लगा दिया और फिर एक जोर का धक्का मारा… वो बहुत जोर से चीख पड़ी आआआआआआआ आआआआआआअ… हम दोनों के लिप लॉक थे, तो उसकी काफी हद तक आवाज़ दब गयी. मैंने देखा, कि उसकी चूत से खून निकलने लगा था और साथ ही वो कह रही थी.. निकालो इसे… मैं मर रही हूँ… प्लीज… मैं कुछ देर के लिए रुक गया और जब वो शांत हो गयी, तो मैंने अपने लंड को आगे पीछे करना शुरू कर दिया और फिर वो मजे लेने लगी अहहाह अहहाह अहः की आवाज़े निकालने लगी… और अपनी गांड को हिला कर मज़े ले रही थी | आप यह कहानी मस्ताराम डॉट नेट पर पढ़ रहे है |मैंने करीब आधे घंटे तक उसको चोदा. मैं एक बार झड चूका था और दूसरी बार में मुझे टाइम लगता है. फिर हम एक साथ झड गये और कुछ देर ऐसे ही पड़े रहे. फिर वो फ्रेश होने बाथरूम में जाने लगी और उस से चल भी नहीं जा रहा था. मैंने मैं ने उसको सहारा दिया और बाथरूम में ले गया. उसके बाद, जब तक मेरे घर वाले नहीं आये, हमने लगातार चुदाई की और मज़ा किया. तो दोस्तों, कैसी लगी आपको मेरी कजिन चोदने की ये स्टोरी… प्लीज अपने कमेंट से मुझे बताएगा…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *