मुझे एक और लंड चाहिए बेबी

मुझे एक और लंड चाहिए बेबी

हेल्लो दोस्तों मै फिर लौट आया हूँ एक नयी कहानी के साथ वैसे आप तो मेरा नाम जानते ही होगे अगर जो लोग नए है मै फिर से बता देता हूँ मेरा ना राहुल है आप लोगो ने मेरी ढेर सारी कहानियां पढ़ी मुझे ढेर सारे मेल भी आये कुछ भाई लोग रिक्वेस्ट कर रहे थे की कोई भाभी हो तो दिला दू तो उनको मै बताना चाहता हूँ दोस्तों मै भी आपके तरह ही था बस मस्ताराम पर कहानियां क्या लिखना स्टार्ट किया मेरी तो किस्मत ही बदल गयी मुझे कई लडकियों के मेल भी आये जिन्हें मै इसके बाद पोस्ट करुगा वैसे ये कहानी भी काफी मजेदार है चीनी की तरह मिक्स है मज़ा आया तो कमेंट दे देना |

मैं आपको एक सच घटना सुना रहा हूँ इसकी हकीकत में बिल्कुल ही मिलावट नही है जैसा की आप लोग जानते है की मैं एक मैनेजमेंट इंस्टिट्यूट में प्रोफ़ेसर हूँ मेरे अंडर में बहुत से विद्यार्थी पीएचडी करते है जब उनकी पीएचडी हो जाती है तब वे लोग कुछ न कुछ मुझे दक्षिणा में देते है एक बार मेरे अंडर में एक लड़की ने पीएचडी करना सुरु किया कई बार मेरे पास आती थी मैंने उसे खूब गाइड किया आखिर कर उसकी पीएचडी स्वीकार कर ली गयी इस तरह उसे लोग डॉक्टर रागिनी कहने लगे आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है | रागिनी एक खूबसूरत औरत बन चुकी थी उसकी चून्चियों बड़ी बड़ी हो गयी थी उसके नाप की ब्रा बड़ी मुस्किल से बाज़ार में मिलती थी चूतड बड़े बड़े हो गए जांघे मोटी मोटी सुडौल निकल आयें थी चेहरा बहुत सुंदर था सच कहू मैं जब उसे देखता था तो मेरा लंड खडा हो जाता था पीएचडी की डिग्री मिलने पर रागिनी बहुत खुश थी एक दिन मेरे पास दोपहर में ही आ गयी छुट्टी का दिन था मैंने घर पर बैठा कर अपनी खुशी ज़ाहिर की वह बोली सर, यह सब आपकी ही बदौलत सम्भव हो पाया है मैं तो आपकी रिनी हूँ और मैं वह ऋण उतरना चाहती हूँ मैंने कहा कैसे तो उसने झट से कह दिया अपनी चूत देकर मैंने कहा रागिनी यह क्या कह रही हो तो उसने कहा की मैं सच कह रही हूँ सर, केवल चूत ही नही साथ में अपनी चूंची भी और गांड भी यह कह कर वह मेरे सामने ही कपड़े उतरने लगी मैं उसे नंगी देखना चाहता था इसलिए उसे मना नही किया देखते ही देखते वह बिल्कुल नंगी हो गयी मेरा तो लंड साला उंदर ही उंदर खड़ा हो गया था उसने मेरे हाथ पकड़ कर अपनी चून्चियों पर रख दिया और बोली सर, इन्हे खूब जोर जोर से मसलिये ना फिर वह मेरे भी कपड़े उतरने लगी अब मैं एकदम नंगा हो चुका था उसने मेरा लंड पकड़ लिया और सहलाते हुए कहा सर आपका लौड़ा तो साल बहन चोद बड़ा तगड़ा है देखो कैसे फुफकार मार रहा है उसने मुझे पलंग पर लिटा दिया और मेरा लौड़ा चूसने लगी बोली भोसड़ी के मेरे सर साले हरामी बेटी चोद अभी तक अपना लौड़ा छिपा कर रखा था पहले दिखाया होता तो अब तक कई बार चुदवा चुकी होती ले साले अब तू मेरी चूत चाट कर मज़ा लेले हम दोनों ६९ की स्थिति में हो गए मैं उसकी बुर और वह मेरा लौड़ा चटाने में लग गए मैंने कहा तू बुर चोदी अभी तक अपनी चूत को क्यों छिपा रखा था उसने कहा अबे माँ के लौडे पहले मेरी चूंची कस के चूस ले फिर बतलाती हूँ थोडी देर में रागिनी ने लौड़ा पकड़ कर अपनी चूत में घुसेड लिया बोली ले जल्दी जल्दी चोद पुरा लौड़ा बुर में घुसेड दे मैं सतासत गचागच फचफच चोदने लगा थोडी देर में वह उठी और अपनी गांड ऊपर करके बोली बहन चोद प्रोफ़ेसर अब तू मेरी चूत पीछे से चोदो मैं चोदने लगा फिर वह घूम गयी और अपना मुह पुरा खोल कर मेरा लौड़ा मूठी में लेकर सड़का मारने लगी लौड़ा एकदम से उसके मुह में ही झड़ गया रागिनी झड़ते हुए लंड को चाट चाट कर साफ कर दिया | आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है |
फिर हम दोनों ने नहा धोकर खाना खाया करीब करीब एक घंटे बाद रागिनी बोली सर आज से मेरी चूत मेरी चूंचियों मेरी गांड मेरा मुह मेरा तन मन सब आपको गुरु दक्षिणा में देती हूँ आप जब चाहें जहाँ चाहें मुझे चोद सकते है और आप किसी और से भी मुझे चुदवा सकते है सर मैं आज यह जान गयी की आपका लंड बड़ा जबरदस्त है यह किसी भी और कैसी भी चूत को जमकर चोदने की छमता रखता है अब आप मुझे यह बतलाये की मेरे कॉलेज में आप किस लड़की को चोदना पसंद करेंगे मैंने कहा सुभागिनी को मगर वह बड़ी शर्मीली लड़की है कुछ बोलेगी नही तो मज़ा नही आएगा उसने कहा सर यह आपको किसने बताया की सुभागिनी शर्मीली है वह तो माथेर चोद बड़ी गन्दी गन्दी बातें करती है लंड बुर चूत झांट चुदाई चूंची आदि सब उसके जबान पर हमेसा रहता है मैं वादा करती हूँ की सुभागिनी खूब मस्त होकर भद्दी भद्दी गालियाँ सूनाते हुए आपसे गांड उछल उछल कर चुद्वायेगी तो सर अबकी सनिवार को प्रोग्राम बना लेते है आप अपने चेलों को बुला लीजिये मेरे पास तीन चेले है जिनके लंड मेरे लंड की तरह मजबूत है वह बोली तो फिर मैं एक और लड़की गौरी को बुला लेती हूँ..

कहानी जारी है… आगे की कहानी पढ़ने के लिए निचे दिए गए पेज नंबर पर क्लिक करे |

गतांग से आगे ..
अगले सनिवार को सभी लोग मेरे घर पर आ गए रागिनी ने सब से पहले ही यह बता दिया था की सभी लोग अपनी अपनी झांटे बना कर ही आयें सुभागिनी बोली मैं सबसे पहले इस बेटी चोद प्रोफ़ेसर को नंगा करती हूँ और देखती हूँ की इसका लंड कितना बड़ा है यह कह कर पहले सुभागिनी ही नंगी हो गयी फिर मुझे नंगा किया मेरा लंड हाथ में लेकर हिलाने लगी लौड़ा साला टनाटन खड़ा हो गया उधर रागिनी ने उन्तीनो चेलों को नंगा कर दिया राका जैकी और सलमान अब चार लंड और दो चूत मैदान में थे | आप यह कहानी मस्ताराम.नेट पर पढ़ रहे है | सुभागिनी ने हाथ बढ़ा कर सलमान का लंड पकड़ लिया बोली अरे यह तो कटा लंड है देखो कितनी जल्दी खड़ा हो गया भोसड़ी का रागिनी के पास भी दो लंड थे एक राना का और दूसरा जैकी का उन्दोनो ने दोदो लंड से खूब मस्ती में आकर चुदवाया अब लंड बदल गए सुभागिनी ने राना और जैकी के लंड अपने दोनों हाथों से थाम लिया और रागिनी ने मेरा और सलमान का उसे दोनों लंड बड़े मस्ताने लग रहे थे बोली सर दो दो लंड से चुदवाने में जायदा मज़ा आता है उधर सुभागिनी की चूत में एक लंड था दूसरा उसके मुह में वह लंड को मुह से निकाल कर बोली सर अभी मेरी गांड खली पड़ी है मुझे एक और लंड चाहिए मैं तो तीन तीन लंड से चुदवाने में माहिर हूँ मैंने कहा रागिनी वास्तव में सुभागिनी बुर चोदी बड़ी चुदक्कड औरत है आज मुझे मालूम हुआ की लड़कियां कितनी छुपी रुस्तम होती है इतने में हम चारों के लंड एकदम से उनदोनो के मुह में झड़ गए
दो लंड से चुदाई

आशिया बोली अम्मी देखो आज मैं सुहेल अंकल से चुदवौंगी उनसे कह देना की अपने साथ असलम को भी लेते आयें क्योकि मुझे उसका लंड बहुत पसंद है अब मुझे दो दो लंड से चुदवाने में ही मज़ा आता है अम्मी बोली तो मैं फिर क्या करूंगी आशिया ने उत्तर दिया तुम मेरे शौहर से चुदवा लेना उसका लौडा तो तुमको पसंद है न साथ में खालू को ले लेना मैं जानती हूँ की तुम उनसे अच्छी तरह चुदवाती हो
यह कह कर आशिया चली गयी दरअसल वे दो नो माँ बेटी एक साथ चुदवाने में बड़ी माहिर हो चुकी है क्यों की लंड बदल बदल कर चुदवाने का दो नो को शौक हो गया है घर भर के लौडे सभी दोनों को चोद चुके है यहाँ तक कि आशिया अपने बाप से भी चुदवाती है जब पहली बार उसकी माँ ने कहा की आशिया ले अब तू अपने अब्बा का लंड पकड़ तो पहले आशिया कुछ संकोच कर गयी फिर उसकी माँ ने बताया की तू लंड बड़े शौक से पकड़ ले चुदवा भी ले क्योंकि यह तुम्हारे असली बाप नही है तो आशिया ने पूंछा फिर मेरा असली बाप कौन है उसकी माँ ने उत्तर दिया अर्री आशिया अब तू ही बता की हर रोज तीन तीन चार चार लंड जब मुझे चोदेंगे तो मैं कैसे यह पता लगा लूँगी की तेरा बाप कौन है लेकिन एक बात सच है कि तेरा बाप कोई हलब्बी लंड है वह लंड किसका है यह पता नही है मुझे लगता है कि वह लंड जबरदस्त था क्यंकि वह लंड चोदने में सबसे आगे था और अब तेरी चूत भी चुदवाने में सबसे आगे है आशिया बोली मेरी भोसड़ी की अम्मी माँ की लौड़ी तेरी बहन की चूत सब साली तूने ही तो सिखाया है अब तो मैं रंडी की तरह चुदवाती हूँ कोई कितना भी तगड़ा लंड क्यों न हो मैं उसे अपनी चूत की भट्टी में डाल कर भून डालती हूँ तभी तो मेरी चूत से भुने हुए बैगन की तरह लंड निकलते है
आशिया के जाने के बाद उसका शौहर अरबाज आगया और अपनी सासू माँ से बोला की आशिया कहाँ है तो उसने बताया की वह तो चली गयी है अब शाम को ही आएगी तो अरबाज बोला अम्मी मैं तो अपने दोस्त शाहिल को लेकर इसलिय आया हूँ की वह मेरी बीवी को चोद ले क्योंकि सारी रात मैंने उसकी बीवी को चोदा है
सासू:- क्या उसकी चूत तुमको ज्यादा अच्छी लगी ?
अरबाज :- चूत नही, अम्मी वह लौडा बड़े प्यार से चूसती है और उसके चुदवाने का अंदाज़ बड़ा मस्ताना है
सासु:- तो उसका मर्द क्या कर रहा था ?
अरबाज:-वह अपनी भाभी को मेरे सामने चोद रहा था
सासु:- तो तुमने उसकी भाभी को नही चोदा क्या?
अरबाज:- अरे मेरी सासू माँ भला कोई औरत मेरे सामने नंगी पड़ी हो और मैं उसको चोदूं नही ऐसा कभी हो सकता है क्या?
सासु:- तो तू यह बता भोसड़ी के तेरी माँ की बुर चोदों साले हरामी अगर मेरे सामने दोदो मर्द साले लौडा चूत की बात कर रहे हो तो क्या मैं उनके लौडे देखे बगैर रह सकती हूँ चलो तुम दोनों जल्दी से नंगे हो जाओ और मेरी एक एक चूंची पीने लगो मैं देखती हूँ की तुम्हारे लंड कितने बड़े है अरबाज का लंड तो मुझे चोद चुका है लेकिन आज मेरे सामने शाहिल का लौड़ा नया होगा
आशिया की माँ नसिफा शाहिल का लंड पकड़ कर हिलाने लगी उधर अरबाज का लौडा चोदने के लिए तैयार हो गया नसिफा बोली मेरे चोदू दामाद तू अपना लंड मेरी चूत में घुसेड दे मादर चोद और जल्दी जल्दी चोद डाल मेरी चूत को अरबाज बोला तुम दोनों माँ बेटी चुदवाने में बड़ी मस्त हो
नसिफा :- शाहिल क्या तुमने मेरी बेटी को कभी चोदा है ?
शाहिल :- नही कल जब तुम्हारी बेटी का शौहर बीवी को मेरे सामने चोद रहा था तो मैंने कहा था कल मैं तुम्हारी बीवी को चोदूंगा इसी शर्त पर मैंने अपनी बीवी को इससे चुदवाया और जब मैं इसकी बीवी को चोदने के लिया आया तो बीवी तो नही मिली उसकी माँ जरूर मिल गयी बुर चोदी अब मैं तुझे चोद चोद कर भरता बना दूंगा लेकिन अगर तेरी बेटी भी साथ होती तो उसे भी अपने मस्ताने लंड का मज़ा चखा देता
अरबाज:- यार गिला मत कर मेरी बीवी स्वयम तुमसे चुदवाने आएगी वह साली अपनी से ज्यादा चुदक्कड़ है अभी तू पीछे से मेरी बुर चोदी सासू को चोद साले बहन के लौडे
अरबाज और शाहिल ने मिलकर नसिफा को खूब चोदा और दोनों लंड नसिफा के प्यार में मस्त हो गए
रात को करीब ८.०० बजे आशिया आ गयी उसने देखा की उसके अंकल सुहेल बैठे है और उनके साथ उनका दोस्त असलम भी है आशिया समझ गयी की ये दोनों मुझे चोदने आए है
आशिया ;- यार सुहेल अंकल अब क्या मुझे चुदवाने के तुम्हे बार बार बुलवाना पड़ेगा क्या तुम्हारा लौडा मेरी चूत चोद कर थक गया है क्या?
सुहेल :- नही मेरी रानी बुर चोदी आशिया मेरा लंड तो तुम्हारे नाम से ही खड़ा हो जाता है ले तू लंड चूसती जा मैं तुझे सारी कहानी बताता जाता हूँ
आशिया :- नही यार मैं पहले असलम का लंड लूँगी क्योकि यह मुझे कई दिनों के बाद मिला है
देखते ही देखते तीनो नंगे हो गए आशिया असलम का लंड सहलाने लगी सुहेल उसकी चूत चाटने लगा
आशिया :- बहन चोद असलम तेरा लंड तो कुछ् ज्यादा मोटा हो गया है मुझे मोटे मोटे लंड बड़े पसंद है
असलम:- जब इतनी सारी खूबसूरत औरते मेरे लंड को हिला हिला कर प्यार करेंगी तो साल मोटा हो ही जाएगा सुहेल:- आशिया भी लंड से खूब मस्ती करती है यार
इतने में आशिया ने देखा की उसकी माँ नसिफा अपने दोनों हाथो में एक एक लंड पकडे हुए आ रही

कहानी जारी है… आगे की कहानी पढ़ने के लिए निचे दिए गए पेज नंबर पर क्लिक करे |

आशिया बोली :- अरे मेरी हरामी अम्मी ये दोनों लंड किसके है
नसिफा:- अरे यार मैं जब चूत चुदवाने चली हूँ तो चोदने वालों की कमी नही है ये दोनों साले तुम्हारे अब्बा के दोस्त है और मेरे चोदू देवर
आशिया :- मुझे तो ये दोनों लंड ज्यादा बड़े दिख रहे है लाओ ये दोनों मुझे देदो और तुम मेरे से सुहेल और असलम के लंड लेलो मैं थोडी देर इन दोनों नए लंड से खेलना चाहती हूँ आज तो चार चार लंड से चुदवाने का अच्छा मौका मिलेगा
नसिफा:- लेलो यार मुझे तो बार बार लंड बदल बदल कर पकड़ने में और चुदवाने में ज्यादा मज़ा आता है देखो ये साले चारों मस्ताने लंड कैसे मचल रहे है और हम दोनों की चूत कैसे मस्ती से चुदवाने के लिए फुदक रही है |
सेक्स जीवन है

दरवाज खुलते ही मिसेज़ रागिनी बोली अरे अन्दर आईये न सर मैं तो बड़ी देर से आपकी राह देख रही हूँ वह मुझसे चिपट गयी और पैंट के ऊपर से ही मेरा लंड दबा कर बोली जल्दी दिखाओ न सर मैंने सुना है की आपका लौडा बड़ा तगड़ा है जबसे मुझे मिसेज़ सुमन ने बताया है तबसे मैं आपके लंड के लिए तड़प रही हूँ मैंने उसकी चूंचियों पर हाथ फेरते हुए कहा मैंने सुना है की तुम्हारी चूंचियां बहुत बड़ी बड़ी है
रागिनी से न रहा गया वह मुझे बेड रूम ले गयी उसने फ़ौरन अपने कपड़े उतार फेंके और एकदम मेरे सामने नंगी हो गयी वह बहुत खूबसूरत दिख रही थी सच मैंने कई नंगी औरतें देखी है लेकिन इतनी खूबसूरत नही देखी बड़ी बड़ी आखें गुन्दाज़ बाहें बड़ी बड़ी गोल मटोल चूंचियां मोटी जांघे उभरे हुए चूतड बिना झांट की फूली फूली चूत मेरा लंड तो उसे नंगी देखकर ही एकदम टन्ना गया उसने झटपट मुहे नंगा किया तो लौडा टन टना कर उसके मुह के सामने आ गया पकड़ कर बोली अरे सर इतना बड़ा लौडा ? इतना लंबा लौडा ? इतना मोटा लौडा ? इतना सख्त लौडा ? मैंने आज तक नही देखा मिसेज़ सुमन सच ही कह रही थी
मैंने उसकी चूंचियां सहलाना शुरू किया वाह क्या बड़ी बड़ी सख्त चूंचियां है इसकी मन करता है चबा जाऊँ मैं दोनों हाथों से जुट गया मुझे चूंचियां बहुत अच्छी लगती है इतने में उसने मुझे चित लिटा दिया और मेरे लंड को बड़े प्यार से देखा कई बार चूमा चाटा पेल्हड़ सहलाये और फ़िर मुह खोल कर लौडा गप्प से अन्दर ले लिया लांड का सुपाडा उसे अच्छा लगरहा था उसने अपनी जबान सुपाड़े पर फिराना शुरू किया फ़िर बार बार अन्दर बाहर करने लगी मुझे बड़ा मजा आ रहा था वैसे मेरा लंड कई औरते चूस चुकी है लेकिन उसकी लंड चूसने की अदा निराली थी इतने उसने मोबाईल उठाया और मिसेज़ सुमन को लगा दिया
बोली :- यार सुमन इस समय मनोज सर का लंड मेरे हाथ में है तुमने जितना कहा था उससे बड़ा निकला इनका लौडा साला ९” तक पहुँच गया है
सुमन :- अरे अभी और बड़ा होगा बस प्यार से हिला हिला कर चूसती जाओ इनका लौडा तुम जैसी खूबसूरत और बड़ी बड़ी चूंचियों वाली औरतों के हाथ में जाकर ज्यादा बड़ा हो जाता है अभी चुदवाया है की नही ?
रागिनी :- अभी तो मैं अपनी नज़र से हटाना नही चाहती लेकिन मेरी चूत बड़ी बेकरार हुई जा रही है
सुमन :- अरे चुदवाकर तो देखो इनका लौडा साला क्या मस्त चोदता है मेरी चूत हमेशा इनका लंड लेने को तैयार रहती है
रागिनी:-अच्छा तुम क्या कर रही हो इस समय ?
सुमन :- यार मेरे एक हाथ में मोबाईल है दूसरे में लंड
रागिनी :- लंड किसका है मतलब यह की तुम भी चुदवाने में जुटी हो जरूर किसी पराये मर्द का लंड होगा सुमन :- तुमने सही कहा यार यह मेरे हसबैंड का दोस्त है बलबीर इसका पंजाबी लौडा बड़ा मस्त है इसकी बीवी मिसेज़ बबिता मेरे हसबैंड का लंड चूस रही है
रागिनी :- ये सब कैसे हुआ
सुमन :- ये दोनों गहरे दोस्त है लेकिन इन्होने एक दूसरे की बीवी नही पहचानते आज पहली बार मिले है मैं तो देखते ही बलबीर को दिल दे बैठी इसी तरह मिसेज़ बबिता मेरे हसबैंड पर मर मिटी उधर वे दोनों एक दूसरे की बीवी पर फ़िदा हो गए मेरा हसबैंड बोला यार बलबीर तेरी बीवी बड़ी खूबसूरत है मेरा मन डगमगा रहा है तब बलबीर ने उत्तर दिया यार मुझे भी ऐसा लग रहा है |

कहानी जारी है… आगे की कहानी पढ़ने के लिए निचे दिए गए पेज नंबर पर क्लिक करे |

गतांग से आगे ..

मैं तो तेरी बीवी के साथ कुछ करना चाहता हूँ मेरे पति ने कहा क्या तुम मेरी बीवी को नंगी करना चाहते हो उसने कहा हां तो फ़िर तुम अपनी बीवी नंगी करो मैं अपनी बीवी नंगी करता हूँ उसने कहा हां मैं तैयार हूँ लेकिन मैं तो चाहता हूँ मेरी बीवी तेरा लंड पकड़े तेरी बीवी मेरा लंड पकड़े बस इसी खेल में मैं उसका लंड पकड़ कर हिला रही हूँ
चुदवा कर बताना मुझे की कैसी रही चुदाई तुम भी बताना फ़िर उसने फ़ोन रख दिया और लांड पर दोनों हाथ मजे से फिराने लगी गचा गच कर एकबार चुम्मा लिया और लांड को दोनों गदेली के बीच में रख कर मथानी चलाने लगी लांड को खूब मजा आने लगा वह लंड से बातें करने लगी बोली भोसड़ी के तुम इतने मोटे तगडे कैसे हो गए और लंड पर एक थप्पड़ जड़ दिया लंड और हिनहिनाने लगा उसने फ़िर कहा तू तो बड़ा हरामी है रे मार खाक और उछलने लगता है है एक और तमाचा मारा लंड और टन्ना गया फ़िर बोली तू मादर चोद परायी बीवियों को चोद चोद कर बड़ा ढीठ हो गया है मैं उसकी चूत पर हाथ फिर रहा था था क्या चूत बनी थी उसकी गद्दे दार और उसकी चूंची तो मस्त मस्त बड़ा मज़ा दे रही थी अब रागिनी ने अपनी चूत फैलाई और पूरा लंड घुसेडवा लिया मैं जोर जोर से चोदने लगा थोडी में बोली सर अब मुझे पीछे से चोदो फ़िर थोडी में कहा सर मैं अब लंड पर चढ़ कर चुदवाउंगी फ़िर बोली सर अब मेरी चूंचियां चोदो मेरा लंड हुकुम का गुलाम हो गया जैसे जैसे उसने कहा मैं चोदता चला गया बड़ी मस्त चुदाई हो रही थी रागिनी की चूत की फ़िर उसने लांड को हाथ में लिया जल्दी जल्दी मुठीयाने लगी मैंने कहा मैं झड़ जाऊंगा वह बोली भोसड़ी के मादर चोद सर मेरे मुह में ही झडना मैं तेरे बहन चोद लंड का पूरा का पूरा रस चूसना चाहती हूँ सुना माँ के लौडे मैंने कहा हां मेरी बुर चोदी रागिनी मैं तुमसे पूरा का पूरा लंड चटवा लूँगा तू फिकर मत कर आज रात भर जम कर चोदूंगा तुझे उसने जबाब दिया तब तो मैं तेरे बेटी चोद लौडे को चूत में घुसेड कर कर भून डालूंगी बस थोडी देर में मैं उसके मुह में झड़ गया
अगले दिन मैंने मिसेज़ सुमन को अपनी बीवी बनाया और उसके साथ दूसरे दरवाजे पर दस्तक दी दरवाजा खुला तो मिसेज़ सीमा बनर्जी बोली अरे सर आप जल्दी आईये मैं आप का ही इंतजार कर रही थी बाकि सब लोग आ गए है सीमा मुझे अन्दर के एक बड़े कमरे में ले गयी जहाँ कुछ लोग बैठे हुए थे उसने सबसे परिचय करवाया मैंने कहा मैं मनोज मेरी नई बीवी मिसेज़ सुमन मनोज सीमा ने कहा ये है मिसेज़ कविता गुप्ता व उनके पति सोहन और ये है मिसेज़ अंशिका तुली व इनके पति जतिंद्र और मेरे हसबैंड नरेन्द्र सीमा ने कहा सर ड्रिंक्स पेश करूँ मैंने कहा शौक से शराब का दौर चल पड़ा तब तक मैंने देखा की सीमा तो बड़ी बड़ी चूंचियों वाली बंगालिन है अंशिका पंजाबिन औरत है खूब गदराई हुई मैंने सोचा इसको चोदने में मजा आयेगा कविता भी सेक्सी लग रही है ऊपर से इसकी चूंची दिख नही रही है तो मैंने एक प्रस्ताव रखा की एक पैग ख़तम होते ही सब लोग अपने अपने आधे कपड़े उतार दे सबने हां कर दी बस १० मिनट में मैंने ऊपर के कपड़े उतारे नीचे केवल पैंट रह गई जतिंद्र ने वैसा ही किया |

तो दोस्तों चीनी की तरह मिक्स कहानी कैसी लगी | जरुर बताना | मेरी मेल आई डी है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *