देसी माल के मस्त चुदाई

देसी माल के मस्त चुदाई

Chudai Antarvasna Kamukta Hindi sex Indian Sex अगर आप एक जवां मर्द हैं तो आपके लन्ड को क्या चाहिए, एक देसी लड़की जिसकी सख्त चूत आपके केले का जूस निकाल सके। एक सख्त गांड वाली जवानी जिसके अंदर लंड घुसाते ही आपका माल झड़ने को तैयार हो जाए, एक बड़े चूंचे वाली जानेमन जिसको चोदने के लिए आपका मन ललच जाए। जी हां तो ऐसा ही कुछ एडवेंचर गोआ टूर में हम सब ने किया। मैं और मेरा एक दोस्त जिसकी एक दोस्त लिविन्ग इन रिलेशनशिप मे दिल्ली में रहती है, उसे लेकर के गोवा ट्रिप पर गए। उस देसी लड़की का नाम आयशा है। चलिए उसके फिगर का दर्शन करां दूं आपको, सच तो ये है कि आयशा कि फिगर सर से पैर तक कयामत है। मस्त गदराया बदन, मोटी गांड और बड़े चूंचे।

सेक्सी तांबई रंग और पतली कमर। पहनावा एक दम मुम्बईया और जुबान लखनवी, तहजीब कूट कूट कर भरी हुई। ऐसी जवान और तहजीब से भरी लड़की को चोदने के लिए आप क्या, फरिश्ते भी पैदा हो के चले आएंगे। तो कहता हूं कहानी, आपको गोवा की। उसे लेकर हम दोनों ने गोवा में एक रिजोर्ट बुक कराया। आयशा को पता था कि मैं भी आ रहा था, वो मुझसे परिचित थी और हमारे नैन मटक्के मेरे दोस्त अंशुमान की अनुमति से चलते रहते थे। यह कहानी देसीएमएमस्टोरी डॉट कॉम पर पढ़ रहे रहे । एकाद बार मैं उस देसी लड़की के चूंचे भी मसल चुका था। गोवा में जिस रिजोर्ट में हम दोनों ठहरे थे, वो एक बेहतरीन रिजोर्ट था। शाम को हम और अंशुमान आयशा के साथ स्नैक्स लेने के बाद ड्रिंक्स पर बैठे और फिर जम के दारु पी। आयशा भी बेवड़ी थी, उसने अपने गांव में दारु महुवे वालि पी हुई थी। साली को जल्दी विदेशी दारु चढती भी नहीं थी। पीने के बाद मेरा दोस्त अंशुमान सीधा प्वाइंट पर आया और बोला कि देख आयशा हम दोनों दोस्तों को खुश कर दे, आज, वैसे भी साली तू रंडी से कम तो नहीं है

आयशा को चढी चुदास तो बढा आत्मविश्वास
पीने के बाद नैतिकता को ताक पर रख चुकी देसी लड़की आयशा मुस्कराई और बोली ” भड़वों चलो देखते हैं किसके लंड में है कितना दम। मुझे तो लगता है अंशुमान कि तुझे गांड मरानी शुरु कर देनी चाहिए क्योंकि तुम्हारे लन्ड में तो दम ही नहीं है।” इस बात पर अंशुमान आगे बढा और आयशा के टाप को खींच कर उसे नंगा कर दिया। देसी लड़की के बड़े चूंचे नुमाया हुए और मेरा लंड सुरसुराने लगा उसको चोदने के लिए। अंशुमान की इस हरकत पर वह मुस्कराई और बोली ‘ रोज तो तेरे को इतना जोश नहीं चढता रे मेरे देवदास जो आज दारु पीके मुझे चन्द्रमुखी समझ रहा है।” और उसने मेरी तरफ इशारा किया और बोली। तो तुझे भी कुछ आता है। एक देसी लड़की के अधनंगे बदन को देख कर मेरा हाल पहले ही गरम था।

मैने अपनी पैंट उतार के फेंकी और अपना लंड तेज करते हुए सीधा उसके चूंचे में जाकर रगड़ने लगा। मेरे लन्ड को देख कर के वो पकड़ के बोली, ऐसा लंड होता है मर्दों का अंशुमान, इसके जैसा अपने हथियार को बनाओ। अंशुमान तो फ्रस्ट्रेट होने लगा था। उसने अपनी पैंट नहीं उतारी बल्कि अपना लंड पैंट के अंदर से खींच कर उसके मुह में डाल दिया। मै उसके चूंचों के बीच अपना लंड पेल रहा था और वो उस देसी लड़की से देसी मुखमैथुन प्राप्त करने पर लगा था। छोटे लंड वाले अक्सर ज्यादा मजा मुख मैथुन में ही पाते हैं। इस तरह से वो मस्ती से उसके लंड को चूस रही थी और मेरे लंड को अपने चूंचों के बीच फंसाए थी। इस प्रकार से हम दोनों ने काफी देर तक उससे मजा किया और फिर उसे बेड पर लिटा दिया। मैंने उसके टांगों के बीच बैठ कर के उसके गीले डिजायनर चूत को चूसना शुरु कर दिया। और अंशुमान अब भी गुस्से में उसके सीने पर बैठ कर के उसके मुह में चोदे जा रहा था।

उसके छोटे खिलौने को मुह में जाने से कोई दिक्कत भी नहीं थी आयशा को। वो एक खेली खाई हुई देसी लड़की थी, और मेरे लिए इस देसी लड़की की चूत एक स्वादिष्ट बर्गर की तरह से थी।यह कहानी देसीएमएमस्टोरी डॉट कॉम पर पढ़ रहे रहे । मैने उसके चूत के दोनो फांकोंके हर कोर को चूसा और अपना लन्ड निकाल कर उसके बायें फांक पर रगड़ने लगा। वो तड़पने लगी। देसि लड़की की तड़प में लंड की चाहत थी, मेरे बड़े लंड को देख कर वह पहले ही दीवानी हो चली थी। अब मैने उसके गांड के छेद पर भी लंड को रगड़ा उसको मेरे ईरादे समझ में आ गये। उसने अपनी टांगे उठा के मेरे कंधों पर रख दी। मैने उसके गांड में लंड घुसाना शुरु कर दिया। दारु के नशे में उसको दर्द नहीं हुआ और मैं ज्यादा ही बेदर्दी से उसके अंदर अपने लौडे को समाने लगा। देसी लड़की की इंडीयन गांड को चोदना एक नया अनुभव था।

उसकी चूत में मैं उंग़ली भी करता रहा और उसकी गांड भी मारता रहा। उसकी आबनूसी गांड एक दम से कोमल थी। उधर मेरा दोस्त उसे मुखमैथुन करवाता रहा। मैने उसकी गांड मार लेने के बाद अपना लंड बाहर खींचा तो उस देसी लड़की की गांड किसी खुले बिल की तरह खुल चुकी थी। मोटे लंड के जाने से ऐसा हुआ था। अब बारी थी उसकी फुद्दी की जिसको कि मैने पहले से ही उंगली डाल के गीला कर रखा था। मैने उसके गाँड के नीचे तकिया रख कर के उसकी चूत उठा दी और उंकड़ू बैठ कर के अपना लंड उसके चूत में नब्बे डिग्री का कोण बनाके डालने लगा। वो अब कराहने लगी थी, मोटे लंड के चूत में जाने से उस देसी लड़की का नशा उतरने लगा था, पर मेरा दोस्त उसको कुछ कहने नहीं दे रहा था, वो लगातार मुखचोदन किये जा रहा था। जब मैं झड़ने को हुआ तो मैने अंशुमान से मुह में से लंड निकालने को कहा और अंशुमान को कहा कि जल्दी से नीचे आकर चूत में पोजिशन ले लो। अंशुमान ने ऐसा ही किया और नीचे चूत में मेरा लन्ड निकलते ही अपना लंड घुसा दिया। मैने लंड से निकलत्ती गरम लावे की धार उसके मुह में छोड़ी और थोड़ा बाहर उसके आंखों नाकों में भी स्प्रे कर दिया। अंशुमान को चुदी हुई चूत चोदने में ज्यादा मजा आ रहा था। देसी लड़की को भी अपनी चूत में मोटे लंड की कमी पूरी हुई और हम सब ने उसे कई दिन चोदा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *