देसी प्यासी चुत

देसी प्यासी चुत

Chudai Antarvasna Kamukta Hindi sex Indian Sex मेरा नाम सनिचारी हे और मेरी उम्र २५ साल हे और में १० पास हूँ और मेरा जिस्म सुदोल और लम्बाई ५’५ हे और में अपने हसबंड के साथ एक कंस्ट्रक्शन वर्क में जॉब करती हूँ. ८ हर्स काम करके हम दोनों २५ हज़ार रुपीज महिना कमा लेते हे. और हमारी जिंदगी आराम से चल रही थी.

और मुझे माँ बनने का बहोत शोख हे. पर चन्दन यानी हसबंड का कहना हे की २-३ साल तक पेसे कमा कर बिजनेस करूँगा और तभी बाप बनूँगा. हम दोनों विक में चार पांच बार जिसके कारण में हमेशा खुस नजर आती हूँ. और देखने में स्लिम और तंदुरस्त उरोजो के कारण में हमेशा दुसरे लोग मुझे सेक्सी चन्दन कहते हे. एक बार चन्दन को गाऊ जाना पड़ा.

और वह से मेरे फोन पर खबर मिली की मेनेजर से मिलकर १०००० रुपीज अडवांस ले कर तुरंत भेजो. तो मेने मेनेजर के घर जाकर उबसे मिलली और सुबह का समय था वो अपने लड़के के साथ नास्ता कर रहे थे, और में बहार इंतज़ार करने लगी. मलिक सनीचरी क्या काम हे…? चन्दन नहीं आया क्या..?

में: मलिक वो गाऊ में ही हे और हमें १०००० रूपये चाहिए. हम दोनों एक्स्ट्रा काम करके चूका देंगे.

मलिक: इतबा एडवांस नहीं दे पाऊंगा. और तभी उननका लड़का इंग्लिस में बोला. जिसे में समज गई. लड़के के कहने पर मलिक ने कहा जा कर मुनसे से मिलना में फोन कर देता हूँ. कल से तुम काम पर ऑफिस नहीं जाना. बल्कि मेरे घर पर ७ बजे आना और मालकिन की सेवा करना और शाम को चली जाना.

तो में जान गयी दुसरे दिन में शाहीब क्या चाहते हे और उनकी पत्नी कुछ महीनो से बेड पर ही थी तो में जान गयी दुसरे दिन में शाहीब के घर आकर काम करने लगी और उनका लड़का राजा १९-२० साल का था और वो कोचिंग में ज्यादा समय बिताता था. और हमेशा लड़कियों से फोन पर चाट करते रहता था. और देखने में वो शाहीब जेसा तंदुरस्त और लम्बा था. जब भी वो मुझे पुकारता तो में उसका काम कर देती पर एक दिन वो बात रूम में था की तभी मोबिईल की घंटी बजी.

तो उसने बाथरूम से कहा सनी मुझे इस नाम से पुकारता था, मेसेज कर दो बाद में फोन कर दूंगा.

में: राजा बाबू बड़े शहेब का फोन नम्बर हे आपको ही बात करनी होगी.

राजा: मुझे दो,

में बाथरूम के दरवाजे पर खड़ी थी. और राजा बाबु ने हाथ निकाल के फोन ले लिया और दरवाजा आधा खुला था. तो मेने देखा राजा पूरा नंगा नहाने के बाद टॉवल से जिस्म सुखा रहा था. और उसकी जांगे लड़कियों की तरह चिकनी थी. और उसकी जागो पर बाल यानी हेयर्स भी नहीं थे. तो में उसका लंड नहीं देख पाती. क्यू की वो मेरी तरफ उलटा खड़ा होकर अपना डेडी से बात कर रहा था.उसी दिन मेने सोंचा था की एक दिन राजा से फर्ट करके चुदाई का मज़ा लुंगी. और चन्दन अभी तक गाओ में ही था. तो में सेक्स मिस कर रही थी. राजा जब अपनी माँ को देखने आता तो में वही रहती और अपनी साडी का पल्लू किसी भी बहाने गिरा देती थी और वो मेरी खड़ी उरोजो को देखता रहता.

और एक दिन मेने नोटिस किया की वो अपने रूम में मुठ मार के अपना मॉल (सेमेंस) निकाल रहा था. उसका ताना हुआ लंड ४ इंच का होगा और लंड के निचे थोड़े हेयर्स भी थे तो मुझसे रहा नहीं गया. और में उसके रूम में जाकर बोली राजा बाबू जब में हूँ तो आपको मुठ मारने की क्या जरुरत हे में लंड की मालिश कर देती हूँ. ये कहते हुए मेने लंड को मुठ्ठी में पकड़कर शेलाने लगी और लंड के मुह से पानी निकल रहा था.

में: राजा बाबू तुम इतना जल्दी पानी मत निकालो. राजा: तुम ही बताओ सनी नंगी चुचियों को देख कर उत्तेजित हो जाता हूँ तो क्या करु. लगता हे लंड फट जाएगा.

में: राजा बाबु मेरी चूची चुसो और में तुम्हारा लंड चूस कर पानी निकाल दूंगी.

राजा: हां सनी मुझे बाबू मत कहो तुम्हारी चूची मेरी गर्लफ्रस्न्द से अधिक बड़ी और गोल गोल हे और वो चूची और निपल्स को चूसने लगा. और निपल्स को दातो से दबाता तो मुझे बहोत ही अच्छा लगता और चूची की चुसाई से मेरी चूत गीली होने लगी और साडी के अन्दर पेटीकोट से पानी पोछ दिया.

में: राजा अभी मुझे माता जी के पास रहना हे तो लंच खिला कर आउंगी तो तुम मुझे आवाज़ देना..

राजा ठीक हे तो लंच के बाद मेरे रूम में जरुर आना में अभी कोचिंग क्लास में जा रहा हूँ.

राजा के जाने के बाद मेने बाथरूम में शावर लिया और क्रीम लगाकर चूत साफ़ की क्रीम लगाकर चूत के बालो को हटाया और नहाने के बाद लहंगा कुर्ती पहना. और जान बुज कर ब्रा पेंटी नहीं पहनी. लहंगे की डोरी को जानबुज कर नाभि के निचे ठीक चूत के उपर बाँधा और कुर्ती छोटी थी इस कारण मेरा जिस्म उरोज के निचे से नाभि तक नंगा था. और माताजी को दावा खिला कर सीधा राजा के रूम में आई राजा टीवी पर पोर्न विडिओ देख रहा था.

जिसमे दो लडकिया ब्रा और पेंटी पहने हुए चूमा छाती कर रही थी. और उसका एक हाथ लंड की मेसेज कर रहां था. और में जान गयी की राजा मुठ मारके अपनी वासना शांत कर रहा था. तो में पीछे से जाकर उसकी आँखे अपने हाथो से मुंडी.

राजा: सनी तुम कब आई…?

उसने टीवी बंद कर के मेरी और देख कर कहा ,

राजा : वाओ तुम्हारा जिस्म कितना सुन्दर हे…. वो मेरी नाभि और चूत की तरफ घुर कर देख रहा था और मेने कहा, राजा चूत नहीं देखि हे कभी…?

राजा: सच में नहीं देखि. मेने उसका हाथ पकड़ कर अपनी नाभि पर रख्खा और वो अपनी ऊँगली मेरी नाभि के छेद में डालने लगा और मुझे पहली बार लगा नाभि का छेद चूत जेसा मजा देता हे और में उन्मत होकर कह्रराने लगी. और राजा नाभि पर किस करो और धीरे धीरे ऊँगली डालो और मेने लहंगे की डोरी खोलकर नंगी को गयी और उसकी ऊँगली चूत पर आ गयी.

में: राजा धीरे से चूत की चारो और ऊँगली घुमाते रहो. और अपनी उँगलियों को चूत में डाल कर छेद को दिखाया और कहा इसमें पानी पूरी ऊँगली डाल दो राजा.

राजा: सनी तुम जो कहोगी करूँगा. और तुम्हारी चूत कितनी चिकनी गुलाबी हे. और बाल भी नहीं हे..

में: राजा तुम्हारे लिए आज ही मेने साफ़ की हे अब तुम चूत चुसो. और वो चूत पर मुह रखकर जीभ से सहलाने लगा.

में: आह हां मेरे राजा और चुसो ऊउज्ज्ज मेरी भागना (उपर लिप्स) को सहलाते रहो.

राजा: सनी चूत से पानी निकल रहा हे.

में: हां पानी निकल ने का मतलब हे चूत चोदाई के लिए तैयार हे.

राजा: तो में तुम्हे चोदना चाहता हूँ. में बेड पर लेट गयी और लंड को चूत में डालने लगा. और उसकी चुत्त्दों को में सहलाने लगी. हां राजा लंड को छेद में घुसाओ. लंड छेद पर जाकर चिटक जाता था. और वो ठीक से घुसा नहीं सका.

में: राजा तुम्हारा लंड चुदाई के लिए तैयार नहीं हुआ हे. लाओ में चूस कर खड़ा क्र दूंगी. टब तुम पहली चोदाई करना और तुम मेरे बूब्स पर चोत्तर रख्खो और लंड मेरे मुह में लाओ. मेने लंड पकड़ कर मुह में लिया और चूसने लगी. और वो उतावला होकर लंड से मुह की पिलाई करने लगा.

राजा: सनी लगता हे में खलास हो जाऊँगा… मेने लंड को मुठ में दबाया और और उसका ध्यान दूसरी और ले गयी.

में: राजा तुम्हारी गर्लफ्रेंड की चूची केसी हे क्या उसने लंड नहीं चूसा हे…?

राजा: नहीं उसने केवल उपर से ही मसाज किया था और एक बार मेने उसकी चूची चुसी थी. और उसने तुरंत मेरे मुह से लंड हटा दिया

राजा: सनी अब मेरा लंड खड़ा हो गे हे. चूत में घुसा तो जल्दी.

में: हां राजा पानी निकल रहा हे. तुम मेरी चूची को चुसो और अपने लंड को चूत के उपर रख्खो और में पकड़ क्र छेद में डाल लेती हूँ. किवार लंड देख कर मतवाली हो गयी हूँ. और मन करता हे तुम्हे सुला क्र देर तक चिपका क्र चुद्वाती रहूँ.

राजा: सनी में खलास नहीं होना चाहता हूँ. देर तक चोदना चाहता हूँ.

में: राजा तुम कुवारे हो तुम्हारा लंड भी छोटा हे इस कारनमेरी चूत की पहली नहीं हो सकती तुम मेरी तरह बेड पर लेट जाओ और और में चूत को लंड में लुंगी. ये कहकर में उसकी जांगो पर बेठ गयी और लंड को चूत में लिया और और पूरा लंड मेरी चूत में घुसा दिया.

में: राजा देखो लंड पूरा चूत में घुस कर गायब हो गया हे.

राजा: सनी लगता हे मेरे लंड की पिसाई हो रही हे आआअऊऊऊ ह्ह्ह्ह आ.

वो कहर रहा था और बोला मेरा पानी निकल रहा हे क्या करू..? में समज गयी वो खलास होने वाला हे तो लंड निकाल क्रर मुह से चूसने लगी और और थोड़ी देर में उसका मॉल निकल क्र मुह में जमा हो गया. कुवारे लंड का पानी पहली दफा टेस्ट किया था मेने.

राजा: अरे क्या क्र रही हो मेरा माल चाट रही हो..? केसा लगता हे सनी…? मेने अपना मुह उसके मुह पर रखकर जीभ पर लगा दिया.

में: तो राजा बाबू खुद ही टेस्ट करो. वो मुझसे चिपक गया और दुबारा चोदने के लिए कहा और फिर पुरे एक महीने तक मेने राजा को चूत का मज़ा दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *