इंडियन लड़की का सिल जमीनदार ने तोडा

इंडियन लड़की का सिल जमीनदार ने तोडा

Chudai Antarvasna Kamukta Hindi sex Indian Sex दिलबाग मेरी चुदाई का साथी
मैं सुंदर सिंह पंजाब का जमींदार हूँ. मेरी हवेली में बहुत से नौकर काम करते हैं और खेतों में भी. हमारी पंजाब में जमींदारी होने के कारण बहुत ही जमीन है. मेरा एक खास नौकर है उसका नाम दिलबाग हैं. दिलबाग ने इंडियन लड़की की जोरदार चुदाई करने में मेरा हमेशा साथ दिया है. यहाँ तक की उसने अपनी बहन की जोरदार चुदाई भी मुझसे करवाई है,उसकी बहन को मैं काफी दिनों तक चोदता रहा फिर उसकी शादी करवा दी. उसकी माँ और उसके परिवार वाले मेरी खूब इज्ज़त किया करते थे. मेरा नौकर जवान था उसके शादी की बात चल रही थी पर जमीन नहीं होने के कारण उसकी शादी नहीं हो पा रही थी. मैंने उसके ससुराल वाले को भरोसा दिलाया की उसके परिवार की देखभाल मैं करूँगा ,आप शादी की तैयारी कीजिये. लड़की के परिवार वाले शादी के लिए तैयार हो गए और ठीक समय पर उसकी शादी हो गई. शादी वाले दिन मैं अपनी गाडी लेकर गया और उसकी दुल्हन को बिदा करा कर ले आया.

उसकी शादी मैंने एक सेक्सी इंडियन लड़की से करवा दी
उसके ससुराल वाले भी काफी खुश थे की मैं खुद ही उसकी बिदाई कराने आया था. मैं तो उस इंडियन लड़की की जोरदार चुदाई करने की सोच रहा था. दुल्हन काफी मस्त थी ,सावला रंग ,भरा हुआ शरीर ,चुंचियां और आँखें बड़ी-बड़ी और तो और उसकी गांड भी बाहर की तरफ उभरी हुई थी. मैं समझ गया था जरुर इस इंडियन लड़की की जोरदार चुदाई कोई करता होगा. दुल्हन का घर आना हो चूका था अब उसके सुहागरात की बारी थी लेकिन मेरा नौकर दिलबाग मेरे एहसानों का बदला चुकाना चाहती थी वो भी उस इंडियन लड़की की जोरदार चुदाई करवा कर. उसने दुल्हन को मेरे साथ सुहागरात मनाने के लिए तैयार कर लिया. शाम को मेरा नौकर आकर मुझसे बोली दार जी हम आपका उपकार कभी नहीं भूलेंगे पर आज नै बहु के साथ आप ही सुहागरात मनाएंगे. इंडियन लड़की की जोरदार चुदाई करना मेरे लिए कोई नै बात नहीं थी,लेकिन किसी की बीबी के साथ सुहागरात कभी नहीं मनाया था. मैं मनोमन दिलबाग की उदारता के ऊपर मान करने लगा.

मालिक सिल तो आप ही तोड़ेंगे
मैं मान गया और कमरे में जाकर बैठ गया. कुछ ही देर में नई दुल्हन दूध का गिलास लेकर कमरे में आई और मेरा पैर छूकर पास में खड़ी हो गई. मैंने उससे शादी से पहले की चुदाई के बारे में पूछा तो उसने कहा नहीं आज मैं पहली बार चुदुंगी. वहां के जमींदार मुझे बेटी की तरह मानते थे किसी चीज़ की कोई कमी नहीं थी इसलिए मैं इतना गदरा गई हूँ. मैंने खड़ा होकर उसको अपनी बाँहों में भर लिया और उसके होठों को चूमने लगा. उसको दीवार के सहारे खड़ा कर दिया और उसकी गांड पर अपना लंड रगड़ने लगा और उसके बड़े-बड़े चुन्चों को अपने हाथों में लेकर मसलने लगा.वो भी अपना गांड पीछे उभर कर मेरे लंड पर रगड़ रही थी. मैं उसकी गर्दन को चाट रहा था और धीरे-धीरे उसकी साडी उठाकर उसकी नंगी गांड को मसलने लगा. अपना लंड निकाल कर उसकी नंगी गांड की दरारों में घुसाने लगा. मैं उस इंडियन लड़की की जोरदार चुदाई करने के लिए बैचैन हुआ जा रहा था और वो भी मस्त होकर अपनी गांड की दरारों को फैला रही थी.मैंने उसे पूरा नंगा कर दिया और उसके चुन्चियों को मुंह में लेकर चूसने लगा और उसकी गुलाबी चूत को सहलाने लगा.

सेक्सी चूत को चाट लिया
आज इंडियन लड़की की चूत की सील तोडुनगा ऐसा सोचकर उसको उठा कर बिस्तर पर सुला दिया और उसकी चूत देखने लगा जो अभी गुलाब की पंखुड़ियों की तरह बंद थी. मैं चूत को हाथ लगा कर सहलाने लगा, फिर उसके चूत को फैला दिया, चूत के गुलाबी भाग को देखते ही मेरे मुंह में पानी आ गया और मैं चूत को अपने जीभ से चाटने लगा,उसके चूत से नमकीन पानी निकल रहा था . इंडियन लड़की के मुंह से सिसकियाँ निकलने लगी,वो कहने लगी अब सहा नहीं जाता दार जी ,चोद दो,फाड़ दो मेरी चूत को. मैंने कहा तेरी चूत में अपना लंड डाल दूंगा तो तू रोने लगेगी, उसने कहा-मैं नहीं रोउंगी.

तेल लगा के लंड पेला
मैंने ढेर सारा तेल लिया और उसकी गीली चूत पर लगा दिया और अपने लंड पर भी तेल लगा कर उसकी चूत में पेल दिया,थोडा सा लंड ही अंदर गया की वो चिल्लाने लगी,निकाल लो बाहर. मैंने उसकी आवाज़ बंद करने के लिए होठों को चूसने लगा ,कुछ देर चूसने के बाद उसे भी आराम मिला फिर मैंने एक जोर का धक्का मारा और लंड उसकी चूत चीरता हुआ अंदर घुस गया. कुछ देर रुक कर मैं उसके चुंचे को सहलाने लगा और होठों को चूसने लगा,फिर धीरे-धीरे धक्का लगा कर उसको चोदने लगा. उसे भी अब मज़ा आने लगा और वो भी अपनी गांड उठा-उठा कर मज़ा लेने लगी. उसकी चूत से पानी बह रहा था और कमरे में फच-फच की आवाज़ गूंजने लगी,उसके साथ ही उसने मुझे कस कर जकड लिया और झड़ने लगी. मैंने अपना लंड निकाल लिया और उस इंडियन लड़की के मुंह में दे दिया ,मेरा पानी अभी तक नहीं निकला था. मेरा मुसल लंड मुंह में जाते ही वो लोलीपोप की तरह चूसने लगी.

कुछ देर की लंड चुसाईं के बाद मैंने उसको घोड़ी बना दिया और पीछे से उसकी उभरी हुई गांड को फैला कर इंडियन लड़की की चूत में लंड डाल दिया और धक्के लगा कर चोदने लगा. उसे भी मज़ा आ रहा था और वो अपनी गांड को मेरे लंड पर मार रही थी. हर धक्के के साथ थप-थप की आवाज़ आ रही थी. काफी देर की चुदाई के बाद वो इंडियन लड़की और मैं दोनों एक साथ ही झड गए. इसके साथ ही वो इंडियन लड़की पेट के बल लेट गई और मैं भी लंड डाले हुए ही उसके उपर लेट गया. कुछ देर में मेरा लंड सिकुड़ कर बाहर आ गया. हमदोनो एक दुसरे की बाँहों में नंगे ही लिपटे रहे,मैं उसके होठों को मुंह में लेकर चूसने लगा. ऐसी नई गदराई जवानी को छोड़ने का मन नहीं कर रहा था. उसके होठ को चूसते -चूसते और चुन्चियों को दबाते हुए मेरा लंड फिर से तन कर उसकी नाभि से टच करने लगा. उसने मेरे लंड को पकड़ कर सहलाते हुए कहा-क्यों दार जी एक बार की चुदाई से मन नहीं भरा. मैंने उसकी गांड की छेड़ में उंगली करते हुए कहा-अभी कहा जानेमन अभी तो मैं पूरी रात तेरी रसीली चूत और मस्त गांड की ज़ोरदार चुदाई करूँगा. फिर मैं उस इंडियन लड़की की चुदाई में जुट गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *