अब रहा नहीं जाता चोद अपनी माँ को भड़वे 1

अब रहा नहीं जाता चोद अपनी माँ को भड़वे 1

मोटर बाइक से मैं मामा के यहाँ माँ को और बहेन को कई बार ले गया था, Antarvasna Kamukta Hindi sex Indian Sex Hindi Sex Kahani Hindi Sex Stories Antarvasna1.com मामा का टाउन करीब 100 किमी पर था अब तो बहेन की शादी भी हुई थी एक दिन मम्मी बोली चलो हम तेरे मामा को मिलके आते है और हम निकले और पहुचे रात को वही रुके दूसरे दिन आने को निकले.

हाइवे पर से चलते चलते मैं मम्मी को बोला कच्ची सड़क से जंगल से चले, मम्मी बोली ठीक है कच्ची सड़क समुंदर के किनारे से जाती है, अब वहाँ कोई नही जाता जब हम आगे बढ़े तो समुंदर दिखने लगा.

समुंदर के पास जाने का रास्ता नही था मैं बोला मम्मी चलो थोड़ा समुंदर देख के चलते है और मैं जंगल से बाइक नीचे चलाने लगा, रास्ता नही था पर मैं एक्सपर्ट था आख़िर हम समुंदर के पास आए समुंदर की आवाज़ उसकी लहरें मेरा मन किया नहाने का.

मैंने मम्मी को पूछा वो बोली जा तुम जाके नहा आओ मैने सारे कपड़े उतारे सिर्फ़ अंडरवेर पे समुंदर मे घुसा बहुत मज़ा आने लगा मम्मी को बोला आओ ना कम्से कम पैर तो पानी मे डूबाओ आख़िर मम्मी आई उसने साड़ी पेटिकोट उपर उठाया और अंदर आने लगी एक दो फीट आई होगी कि अचानक समुंदर की लहरों से वो फिसल गयी और नीचे गिर पड़ी.

मैं दौड़ के आया जहाँ मम्मी गिरी थी उसकी साड़ी और पेटीकोटे लहरों से उपर उठे थे और ऐसा लगा जैसे पानी चूत मे घुस गया मम्मी की गोरी गोरी टाँगे अंडरवेर और भीगा बदन मैने पहली बार देखा मैने मम्मी को उठाया और बोला जब भीग ही गयी हो तो आओ थोड़ा मज़ा लूटो, अब मैं और मम्मी दोनो डुबकिया मारने लगे.

मम्मी की भीगी साड़ी बार बार डिस्ट्रब करने लगी, मैं बोला वैसे भी तुम्हे साड़ी सुखानी पड़ेगी यहाँ कोई देखने वाला नही तुम निकालके दो, मैं सुखाने रखता हू ना ना बोलके आख़िर मम्मी ने साड़ी खोली, मैं बाहर आके चार पत्थरो पर सुखाने को रख के वापस आया.

फिर हम दोनो स्वीमिंग और डुबकिया मारने लगे पर लहरों की वजह से मम्मी का पेटिकॉट बार बार उपर उठता और डिस्त्रूब होता, मैं मम्मी को बोला पेटिकॉट मे स्वीमिंग नही होगा इसीलिए औरते स्वीमिंग ड्रेस पहनती है, यहाँ कोई नही है निकल कर दो सुखाने के लिए बार बार कहने के बाद मम्मी ने पानी मे पेटिकॉट निकाल के मुझे दिया.

मैं बाहर जाके सुखाने को रख आया वापस आते देखा मम्मी अंडरवेर मे स्वीमिंग कर रही थी उसकी गोरी गोरी गंद और मोटी टाँगे चमक रही थी, अब मैं मम्मी के साथ साथ डुबकी और स्वीमिंग करने लगा जब जब मैं डुबकी मारता पानी के अंदर से मम्मी का गोरा बदन दिखाई देता मेरा लंड खड़ा होने लगा.

दो तीन बार मम्मी को मेरा लंड भी लगा अब मैं वासना से गरम हो चुका था मम्मी जब डुबकी मारती तो उसे भी मेरा खड़ा लंड दिखाई देता, एक दो बार मैने गंद पर लंड दबाया मम्मी गुस्सा करने लगी, बोली बेटा ऐसा नही कर मम्मी की गोरी गोरी मोटी गंद और गोरा बदन देख मेरे बदन मे आग लग गयी थी जैसे ही मम्मी ने डुबकी मारी. आप ये कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है।

मैने अंडरवेर से लंड बाहर निकाला, मैं समझ गया मम्मी अंदर से लंड देख रही थी फिर मम्मी ने जब डुबकी मारी तो मैं एकदम नज़दीक गया और उसके हाथ से लंड टच किया मम्मी बोली बेटा यह क्या कर रहा है, मैं याचना करके बोला मम्मी प्लीज़ हाथ लगाओ ना और एक दो बार ज़बरदस्ती हाथ खीच के लंड को टच किया मम्मी ना ना करने लगी.

मैं मम्मी को दबाने लगा आख़िर मम्मी ने लंड पकड़ा और दस बीस बार मूठ मारी और पानी के बाहर निकलने लगा, मैं मम्मी को पकड़ने की कोशिश करने लगा, मम्मी बोली ऐसा नही कर और भागने लगी आख़िर मैने पैर पकड़ा, मम्मी रेत पर गिर गयी मैं झट से मम्मी पर चढ़ा और अंडरवेर सरकाने लगा.

इतने मे समुंदर की लहर आई खारा पानी मम्मी के चूत मे घुस गया मम्मी उससे संभली ही थी कि इतने मे मैने मेरा सख़्त लंड मम्मी की चूत मे घुसा दिया, इसके पहले मम्मी मुझे लात मारे मैने ज़ोर का धक्का मारा और पूरा लंड चूत मे घुस गया, मम्मी आहहहहहहाहा आहहहहहहाहा करने लगी, वो हाथ से मुझे मारने लगी.

मैं सतसट सटतसत धक्के मारने लगा, मम्मी मुझे मारती गयी विरोध करती रही पर मैं बिना रुके दन्दन दनादन शॉट मारने लगा और और कुछ देर मे ही मेरी पिचकरी उड़ी मैं चिल्लाया मम्मीयी मम्मीयायीयी और पिचकरी पर पिचकरी निकालने लगा मम्मी चिल्लाने लगी बेटा ये क्या किया तूने, हहहहहाहा बेटा बेटा और मम्मी ने मुझे कस्के पकड़ा कुछ देर बाद हम दोनो शांत हुए मुझे बहुत अफ़सोस होने लगा.

कहानी जारी है ….. आगे की कहानी पढने के लिए निचे लिखे पेज नंबर पर क्लिक करे …..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *