अपने दोस्त को अपनी दुल्हन बनाकर 1

अपने दोस्त को अपनी दुल्हन बनाकर 1

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम संजय है और में लुधियाना का रहने वाला हूँ Antarvasna Kamukta Hindi sex Indian Sex Hindi Sex Kahani Hindi Sex Stories Antarvasna1.com दोस्तों मुझे सेक्स करने का कोई शौक नहीं था, लेकिन हाँ लड़की की तरह ड्रेस पहने का और मेकअप करने का, अपनी गांड में उंगली करने का बहुत शौक था और में कभी कभी अपनी बहन की ब्रा, पेंटी और सूट पहनकर खुद को कांच में देखता था।

मुझे यह सब करना बहुत अच्छा लगता था और दोस्तों में अपने बारे में बताना ही भूल गया। मेरी उम्र 23 साल है और मेरी यह कहानी तब की है जब में 21 साल का था। में बिल्कुल पतला दुबला हूँ।

दोस्तों हमारे पास वाले घर में एक भैया रहते थे, उनका नाम टोनी था और वो शादीशुदा थे, लेकिन उनकी शादी के कई साल गुजर जाने के बाद भी उनका अपना कोई बच्चा नहीं था और उनकी पत्नी मतलब कि मेरी भाभी जी दिखने में एकदम सेक्सी थी और फिर जब भी हम दोनों मिलते थे तो में उनको नमस्ते कर देता था, लेकिन हमारे परिवार का एक दूसरे से बहुत अच्छा रिश्ता था।

एक दिन की बात है जब मेरे घर वालों को तीन दिनों के लिए कहीं बाहर जाना था, लेकिन में उनके साथ नहीं जाना चाहता था क्योंकि मुझे अपने कॉलेज में कुछ जरूरी काम था। उसी दिन मेरी मम्मी ने ऐसे ही टोनी की मम्मी से बात की तो उनसे मेरी मम्मी को पता चला कि वो लोग भी तीन दिन के लिए बाहर जा रहे है, लेकिन टोनी उनके साथ नहीं जा रहे थे क्योंकि उन्हें अपने ऑफिस में कुछ जरूरी काम था।

अब मम्मी ने मुझसे कहा कि तुम और टोनी अगर एक साथ रह लो तो हमे तुम्हारी खाने की टेंशन नहीं रहेगी, दोस्तों पहले तो मैंने उन्हें साफ मना किया, लेकिन फिर मान गया और टोनी भैया भी मान गये। फिर दो दिन बाद हमारे घर वाले सभी लोग बाहर चले गये।

में अब तीन दिन के लिए अपने कपड़े और ज़रूरी चीज़े लेकर टोनी के घर पर चला गया और अब हमने बहुत सारी बातें की और फिर हमने अपना रात का खाना बाहर से मंगवा लिया और मैंने अब उन्हे खाना परोस दिया और वो खाना खाने लगे, लेकिन ना जाने क्यों मुझे बीच बीच में ऐसा लग रहा था कि वो मुझे घूर घूरकर देख रहे है।

एक बार में उठकर किचन में कुछ लेने चला गया तो जब मैंने पीछे मुड़कर देखा तो वो मेरी गांड को घूरकर देख रहे थे, लेकिन मैंने उनकी उस हरकत पर ज्यादा गौर नहीं किया। फिर मैंने खाना खाकर किचन को साफ किया और उनके सोने के बारे में पूछा तो वो मुझसे बोले कि हम दोनों एक ही रूम में सो जाएँगे और फिर उन्होंने मेरी तरफ एक अजीब सी स्माइल दी।

अब मैंने कहा कि ठीक है तभी वो मुझसे मुस्कुराते हुए कहने लगे कि मुझे अंडरवियर में सोने की आदत है। मैंने कहा कि कोई बात नहीं है आप जैसे चाहे वैसे सो सकते है और मुझे इसमे कोई भी आपत्ति नहीं है। फिर में अपने सभी काम खत्म करके उनके रूम में सोने आया तो मैंने वहां पर पहुंचकर देखा कि वो मेरे सामने अब सिर्फ़ अपनी अंडरवियर में थे और उनको लंड एकदम खड़ा था। आप ये कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है।

उनकी छाती पर बहुत सारे बाल थे और उनकी जाँघों पर भी। दोस्तों अब इतना सब कुछ देखकर मेरे शरीर में कुछ कुछ होने लगा था और वो मुझे लगातार घूर घूरकर देख रहे थे तो में अब उनसे थोड़ा सा शरमा गया। वो मुझसे बोले कि क्यों तुम भी अपनी अंडरवियर में ही सो जाओ?

मैंने उनसे कहा कि नहीं मुझे इस तरह बहुत शरम आती है। फिर वो मुझसे बहुत ज़िद करने लगे तो में भी कुछ देर में मान गया। मैंने भी अब अपने पूरे कपड़े उतार दिए और अब में सिर्फ़ अंडरवियर में था। वो मुझे देखकर बोले कि तुम तो पूरी लड़की की तरह लगते हो तुम बहुत सुंदर हो और फिर हम सोने लगे और मैंने लाईट बंद कर दी।

अभी कुछ एक घंटा ही हुआ था कि में ठीक तरह से सोया भी नहीं था कि मुझे मेरी पीठ पर कुछ छूने का अहसास हुआ, लेकिन मैंने उस तरफ ज्यादा ध्यान नहीं दिया।फिर थोड़ी देर बाद मैंने महसूस किया कि टोनी अपने हाथ से मेरी पीठ सहला रहे थे और मुझे अब बहुत अच्छा भी लग रहा था और थोड़ा डर भी था कि यह मेरे साथ क्या कर रहे है?

फिर वो मेरी गर्दन, गालों पर और होंठो पर हाथ लगाने लगे, मुझे बहुत अच्छा लग रहा था और मज़ा भी बहुत आ रहा था। अब वो मेरी अंडरवियर में अपना एक हाथ डालकर मेरे कूल्हे दबाने लगे और मसलने लगे। मेरे बेड के पास ही लाईट का बटन था, मैंने वो दबाकर लाईट को चालू कर दिया और जब मैंने पीछे मुड़कर देखा तो टोनी मुझे देखकर मेरी तरफ हंस रहे थे।

में थोड़ा शरमाया और मैंने उनसे पूछा कि आप यह क्या कर रहे थे? फिर वो उठकर बोले कि संजय तुम मुझे बहुत पसंद हो और तुम्हे ऐसे देखकर मुझसे अब रहा नहीं जा रहा, पता नहीं फिर ऐसा मौका कब मिले? आज प्लीज तुम मुझे रोको मत। में उनकी यह बात सुनकर शरमा गया।

इसे वो ग्रीन सिग्नल देखकर मुझे पकड़ने लगे, में बेड से उठकर बोला कि ठीक है जो तुम चाहते हो वो सब तुम्हे आज मिलेगा, लेकिन मेरी एक शर्त है? अब वो बोले कि जैसी तुम्हारी मर्ज़ी, बोलो क्या शर्त है? मैंने कहा कि सबसे पहले तुम मुझे बताओ कि तुम्हारी पत्नी की अलमारी कौन सी है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *